नई दिल्ली: राहुल गांधी के पार्टी अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने पर अड़े होने की खबरों के बीच कांग्रेस ने मंगलवार को कहा कि कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक में गांधी के इस्तीफे की पेशकश को ठुकरा दिया गया था और इसके बाद, जो भी अटकलें लगाई जा रही हैं वो अफवाह हैं.

कांग्रेस छोड़कर बीजेपी से जीते 4 एमएलए ने ली शपथ, भाजपा का संख्‍याबल 104 हुआ

पार्टी प्रवक्ता पवन खेड़ा ने गांधी के इस्तीफा देने पर अड़े होने से जुड़े सवाल पर कहा, सीडब्ल्यूसी कांग्रेस की सबसे बड़ी नीति निर्धारण इकाई है. उसने 25 मई की बैठक में उनके इस्तीफे की पेशकश ठुकरा दी थी. बाद में जो आप लोग (मीडिया) कह रहे हैं वो सब अफवाह है.

ममता बनर्जी को बड़ा झटका, बंगाल के 3 विधायक व 50 पार्षद भाजपा में शामिल

राहुल गांधी के मंगलवार को पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात के बारे में पूछे जाने पर खेड़ा ने कहा, आप चुनाव जीतते हैं या हारते हैं तो इस तरह की बैठकें होती हैं.

मोदी हैं नेहरू, इंदिरा, राजीव, अटल जैसे करिश्माई नेता, राहुल को इस्‍तीफा देने की जरूरत नहीं: रजनीकांत

दरअसल, सीडब्ल्यूसी की बैठक में हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए गांधी ने इस्तीफे की पेशकश की थी. हालांकि सीडब्ल्यूसी ने प्रस्ताव पारित कर इसे सर्वसम्मति से खारिज कर दिया और पार्टी में आमूलचूल बदलाव के लिए उन्हें अधिकृत किया था.

अब सूत्रों का कहना है कि गांधी इस्तीफा देने पर अड़े हुए हैं और उन्होंने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से कहा है कि पार्टी का नया अध्यक्ष चुना जाए.