जयपुर: राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष और राज्य के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा है उनकी पार्टी प्रदेश में ‘मिशन 25’ के तहत सभी लोकसभा सीटें जीतेगी और 23 मई को मतगणना के परिणाम सामने आने के बाद केंद्र में संप्रग-3 की सरकार बनेगी. पायलट ने एक साक्षात्कार में कहा, “हम मिशन 25 के लिए जोर-शोर से काम कर रहे हैं और मुझे उम्मीद है हम इसे पूरा करेंगे. कांग्रेस ही वह पार्टी है, जो राष्ट्रीय स्तर पर भाजपा को चुनौती दे सकती है, पराजित कर सकती है. मेरा मानना है कि 23 मई को और अधिक सहयोगी दलों के साथ संप्रग-3 एक सच्चाई होगी.”

कांग्रेस के नेतृत्व में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) की केंद्र में दो बार सरकार बनी है और उसने 2004 से 2014 तक सत्ता की बागडोर संभाली है. उन्होंने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर भावोत्तेजक मुद्दे उठाने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि जबकि कांग्रेस लोगों की आजीविका, युवाओं के लिए अवसर, कृषि संकट और आर्थिक मंदी का मुद्दा उठा रही है.

उन्होंने कहा, “मेरा मानना है कि यह चुनाव सुशासन के मुद्दे पर लड़ा जाना चाहिए. भाजपा जहां भावोत्तेजक मुद्दे उठा रही है, वहीं कांग्रेस लोगों के जीवन में प्रतिदिन हो रही मुश्किलों को उठा रही है. हमने धर्म, मंदिर, मस्जिद की जगह लोगों की समस्याओं को बहस के केंद्र में लाया है.” उन्होंने कहा, “उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अली और बजरंगबली की बात करते हैं, जबकि आज की राजनीति में इस तरह की बातें बेमानी हैं.”

आजमगढ़ से BJP प्रत्याशी ‘निरहुआ’ बोले- अगर अखिलेश यादव PM बनने वाले होते तो कर देता समर्थन

पायलट ने कहा कि कांग्रेस के सभी उम्मीदवार पार्टी नेता द्वारा सर्वसम्मति से चुने गए हैं. उन्होंने कहा, “हमने 25 सीटों पर जीतने वाले उम्मीदवार उतारे हैं. तीन माह तक विचार-विमर्श के बाद उन उम्मीदवारों को उतारा गया है.” भाजपा इस बात की आलोचना कर रही है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अपने बेटे वैभव को जिताने के लिए ज्यादा समय जोधपुर में प्रचार पर दे रहे हैं. इस बारे में पायलट ने कहा कि इसमें कुछ भी बुरा नहीं है. उन्होंने कहा, “हम लोगों ने साथ-साथ पूरे राज्य में प्रचार किया है. जोधपुर के साथ ही उन्होंने अन्य स्थानों पर भी प्रचार किया है. हम चाहते हैं कि हमारे सभी उम्मीदवार जीतें तो इसमें कुछ भी बुरा नहीं है.”

यह पूछने पर कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे? पायलट ने कहा, “लोकतंत्र में संख्या का बहुत महत्व है. राहुल जी ने खुद ही कहा है कि परिणाम आने दीजिए फिर हम मिलकर बैठेंगे और तय करेंगे कि सरकार का नेतृत्व किसे करना चाहिए. एक कांग्रेसी होने के नाते कह सकता हूं कि 23 मई के बाद वह मत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे.” यह पूछने पर कि रपटों में कहा गया है कि कृषि ऋण की थोड़ी राशि ही माफ की गई है? उन्होंने कहा कि सहकारी बैंकों और भूमि विकास बैंक से लिए गए 18,000 करोड़ रुपये के कृषि ऋण माफ किए गए हैं.

उन्होंने कहा, “वाणिज्यिक बैंक वित्त मंत्रालय के अधीन हैं और हम इस मुद्दे पर उनसे बातचीत कर रहे हैं. लेकिन अभी आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू है, जैसे ही यह खत्म होता है हम उन ऋणों को भी माफ कर देंगे.” पायलट ने कहा कि लोकसभा चुनाव में मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में कांग्रेस को भारी बहुमत मिलेगा. उन्होंने कहा कि भाजपा गैस सिलेंडर, पेट्रोल एवं डीजल की कीमतों की चर्चा नहीं करती है, क्योंकि उन्हें मालूम है कि उनके पास इसका कोई जवाब नहीं है. वे केवल भावनात्मक मुद्दे यानी धर्म और राष्ट्रवाद की बात करते हैं. कांग्रेस नेताओं के अनुसार, उपमुख्यमंत्री पायलट राज्य में चुनाव प्रचार के दौरान लगभग 125 सभाओं को संबोधित कर चुके हैं.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com