नई दिल्ली:चुनाव आयोग ने कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू को बिहार में एक चुनावी रैली के दौरान की गई कथित सांप्रदायिक टिप्पणी करने का जिम्मेदार मानते हुए उनके प्रचार करने पर 72 घंटे की रोक लगा दी. यह रोक मंगलवार सुबह 10 बजे से प्रभावी हो जाएगी. बता दें सिद्दू ने कहा था, ” मैं आपको चेतावनी देने आया हूं मुस्‍लिम भाइयों, ये बांट रहे हैं आपको, ये यहां अवैसी जैसे लोगों को ला के, एक नई पार्टी खड़ी कर आप लोगों का वोट बांट के जीतना चाहते हैं. अगर तुम लोग इकट्ठे हुए, एकजुट होके वोट डाला तो मोदी सुलट जाएगा.”

सिद्धू ने बीते 16 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए मुसलमानों से कहा था ‘यहां माइनॉरटी मजॉरटी में है. अगर तुम लोगों ने एकजुट होकर वोट डाला तो सब पलट जाएगा. मोदी सलट जाएगा. छक्का लग जाएगा ‘. सिद्धू ने ये बात विपक्षी महागठबंधन में शामिल कांग्रेस प्रत्याशी तारिक अनवर के पक्ष में मुस्लिम बहुल कटिहार में आयोजित एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कही थी.

कटिहार के पड़ोसी किशनगंज लोकसभा सीट जहां से असदुद्दीन ओबैसी की पार्टी एआइएमआइएम ने अपना उम्मीदवार उतरा है, उस ओर इशारा करते हुए सिद्धू ने कहा था ‘ मुस्लिम भाईयों ये यहां पर ओबैसी साहेब जैसे लोगों को लाकर आप लोगों के वोट बांटकर ये जीतना चाहते हैं’.

क्रिकेटर से नेता बने सिद्धू ने 16 अप्रैल को कटिहार की एक चुनाव रैली में यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया था कि मुस्लिम मतदाताओं को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हराने के लिए एकजुट होकर मतदान करना चाहिए. सिद्धू ने 16 अप्रैल को कटिहार में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए मुस्लिम मतदाताओं से एकजुट होकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हराने के लिए मतदान करने की अपील कर विवाद खड़ा कर दिया था. सिद्धू कटिहार में कांग्रेस वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री उम्मीदवार तारिक अनवर के समर्थन में चुनावी रैली को संबोधित कर रहे थे.