नई दिल्ली: चुनाव आयोग ने केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी को चुनाव प्रचार में सैन्य बलों से जुड़े बयान देने पर गुरुवार को चेतावनी देते हुए भविष्य में उनसे इस तरह का बयान देने से बचने को कहा है. आयोग ने गुरुवार वार को पारित आदेश में नकवी को चेतावनी देते हुये कहा कि वह भविष्य में इस तरह के बयान देने से बचें. बता दें कि केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने तीन अप्रैल को रामपुर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए ‘मोदी जी की सेना’ शब्द का इस्तेमाल किया था. Also Read - Mamata Banerjee On Election Date: ममता बनर्जी ने बंगाल में 8 चरणों में वोटिंग पर उठाए सवाल, कही यह बात...

इस बयान को चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन बताने वाली शिकायतों पर संज्ञान लेते हुए आयोग ने नकवी से जवाब-तलब किया था. नकवी द्वारा आठ अप्रैल को दिये गये जवाब के आधार पर आयोग ने कहा कि उनका बयान इस मामले में राजनीतिक दलों के लिये जारी पूर्व आदेश और परामर्श के अनुरूप नहीं है. Also Read - Assembly Election Dates: पश्चिम बंगाल, असम, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में कब-कब होंगे चुनाव, कब आएंगे नतीजे; यहां जानें सभी जरूरी बातें...

आयोग ने लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लागू होने के बाद सभी उम्मीदवारों, राजनीतिक दलों और नेताओं को परामर्श जारी कर कहा था कि वे सैन्य बलों के पराक्रम से राजनीतिक अथवा चुनावी लाभ लेने के उद्देश्य से सेना और जवानों का चुनाव अभियान में जिक्र करने से बचें. आयोग के प्रमुख सचिव अनुज जयपुरिया ने आदेश में नकवी को चेतावनी दी है कि वह सैन्य बलों का राजनीतिक अभियान में जिक्र न करें और भविष्य में इस बारे में सचेत रहें.