नयी दिल्ली: चुनाव आयोग (ईसी) ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मध्य प्रदेश में एक चुनावी भाषण के दौरान आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन नहीं किया. गांधी ने चुनावी भाषण में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को ‘हत्या का आरोपी’ बताया था.

 

ईसी अधिकारियों ने गांधी को क्लीनचिट देते हुए कहा कि शिकायत की विस्तृत जांच की गई और जबलपुर के जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा भेजे गए भाषण की पूरी प्रतिलिपि की जांच के बाद, आयोग का विचार है कि आदर्श आचार संहिता का कोई उल्लंघन नहीं किया गया है. गांधी ने 23 अप्रैल को मध्य प्रदेश के सिहोरा जिले में एक चुनावी रैली के दौरान यह कथित टिप्पणी की थी. भाजपा अध्यक्ष पर निशाना साधते हुए गांधी ने कथित तौर पर कहा था कि हत्या आरोपी भाजपा अध्यक्ष अमित शाह. वाह, क्या शान है!

प्रचार पर प्रतिबंध के बाद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर कर रही हैं मंदिरों के दर्शन, जानिए क्‍यों साधा मौन?

भाजपा ने ईसी से की थी शिकायत
भाजपा ने इस टिप्पणी के बारे में ईसी को शिकायत की थी. शाह ने इस टिप्पणी का कड़ा खंडन किया था और विपक्षी नेता के ‘कानूनी ज्ञान’ पर सवाल उठाये थे और कहा था कि इस ‘फर्जी’ आरोप को अदालत ने बहुत पहले ‘राजनीति से प्रेरित’ बताते हुए खारिज कर दिया था.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com