नयी दिल्ली: चुनाव आयोग ने बृहस्पतिवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को उनकी कथित ‘बाबर की औलाद’ टिप्पणी को लेकर कारण बताओ नोटिस जारी किया. बता दें कि इससे पहले आयोग उनकी सांप्रदायिक टिप्पणियों के चलते उनके चुनाव प्रचार करने पर 72 घंटे का प्रतिबंध लगा चुका है. Also Read - लखनऊ नगर निगम के बॉन्ड की होगी खरीद-फरोख्त, बीएसई में हुई लिस्टिंग

Also Read - मुंबई में UP के सीएम योगी से आज मिलेंगी बॉलीवुड की कई हस्‍तियां, कल अक्षय कुमार ने की थी मुलाकात

  Also Read - मुंबई पहुंचे यूपी CM योगी आदित्यनाथ, उद्धव ठाकरे बोले- महाराष्ट्र से ‘जबरन’ किसी को कारोबार नहीं ले जाने देंगे

चुनाव आयोग ने उल्लेख किया है कि उत्तर प्रदेश के संभल में 19 अप्रैल को आयोजित एक रैली को संबोधित करते हुये योगी ने कहा कि क्या आप देश की सत्ता आतंकवादियों को सौंप देंगे जो खुद को बाबर की औलाद कहते हैं…उनको जो बजरंगबली का विरोध करते हैं.

EC ने अमित शाह के खिलाफ चुनावी भाषण को लेकर राहुल गांधी को दी क्‍लीनचिट

चु़नाव पैनल ने उन्हें इस नोटिस का जवाब देने के लिए 24 घंटे का समय देते हुये आदर्श आचार संहिता के एक प्रावधान का उल्लेख किया गया है जिसमें कहा गया है कि समुदायों के मध्य परस्पर घृणा उत्पन्न करने या मतभेदों को बढ़ाने वाली कोई गतिविधि नहीं की जायेगी. इससे पहले आयोग उनकी सांप्रदायिक टिप्पणियों के चलते उनके चुनाव प्रचार करने पर 72 घंटे का प्रतिबंध लगा चुका है.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com