नई दिल्ली. चुनाव आयोग ने भाजपा के दिल्ली से विधायक ओपी शर्मा को सोशल मीडिया पर पीएम नरेंद्र मोदी और वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान के साथ अपनी दो तस्वीरें पोस्ट करने के मामले में आचार संहिता के उल्लंघन के आधार पर कारण बताओ नोटिस जारी किया है. आयोग के दिल्ली स्थित पूर्वी जिला निर्वाचन कार्यालय की ओर से मंगलवार को जारी नोटिस में शर्मा से पूछा गया है कि क्यों न उनके खिलाफ चुनाव आचार संहिता उल्लंघन की कार्रवाई की जाए.

दिल्ली की विश्वास नगर विधानसभा सीट से भाजपा के विधायक शर्मा को नोटिस में 14 मार्च तक अपना पक्ष रखने को कहा गया है. नोटिस के अनुसार शर्मा ने बीते एक मार्च को अपने टि्वटर अकांउट पर एक पोस्ट में अभिनंदन की तस्वीर का इस्तेमाल कर उनकी पाकिस्तान से सकुशल वापसी का श्रेय मोदी सरकार को दिया है. शर्मा द्वारा सोशल मीडिया पर एक मार्च को चस्पा तस्वीर में मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, विंग कमांडर अभिनंदन और वह स्वयं नजर आ रहे हैं. उन्होंने पोस्टर में लिखा है, ‘‘झुक गया है पाकिस्तान. लौट आया देश का वीर जवान. इतने कम समय में अभिनंदन की वापसी मोदीजी की बड़ी कूटनीतिक जीत है.’’

बिहार की इन दो सीटों पर उलझा है गणित, भाजपा के दो ‘बागी’ कहां से लड़ेंगे चुनाव

जिला निर्वाचन अधिकारी के. एम. महेश द्वारा जारी नोटिस में शर्मा की पोस्ट को आयोग के सभी राजनीतिक दलों को नौ मार्च को जारी उस परामर्श का भी उल्लंघन बताया गया है, जिसमें सैन्यकर्मियों के पराक्रम को राजनीतिक लाभ के लिए इस्तेमाल करने से बचने की बात कही गई है. साथ ही इसे 10 मार्च से लागू चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन का भी आधार बताया गया है. महेश ने कहा, ‘‘उनसे (शर्मा से) गुरुवार सुबह 11 बजे तक जवाब मांगा गया है. यह आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है और इस बारे में उपयुक्त कार्रवाई की जाएगी.’’ हालांकि शर्मा ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा, ‘‘चुनाव आयोग मेरे जैसे राष्ट्रवादी नेताओं के खिलाफ पूर्वाग्रह से ग्रस्त है.’’ नोटिस में दिल्ली पुलिस की विशेष शाखा और टि्वटर इंडिया के प्रमुख ए. त्रिपाठी को शर्मा के टि्वटर अकाउंट से इस पोस्ट को तत्काल प्रभाव से हटाने की कार्रवाई करने को कहा गया है. शर्मा के अकांउट से फिलहाल उक्त तस्वीर नदारद है.