नई दिल्ली. निर्वाचन आयोग (ईसी) ने सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से नमो टीवी पर विस्तृत जवाब मांगा है. नमो टीवी के खिलाफ कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (आप) ने शिकायत ईसी में शिकायत दर्ज कराई थी. यह जानकारी सूत्रों ने बुधवार को दी. पिछले सप्ताह लांच किए गए इस चैनल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राजनीतिक संक्षिप्त नाम का इस्तेमाल किया गया है और यह उनकी रैलियों और भाषणों के लिए समर्पित है. मोदी और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) दोनों ने सोशल मीडिया पर नमो टीवी को प्रमोट किया है.

हेमामालिनी की सभा के आयोजकों ने भद पिटवा दी, सरकारी स्कूल में सभा और अश्लील डांस पर मिला नोटिस

हेमामालिनी की सभा के आयोजकों ने भद पिटवा दी, सरकारी स्कूल में सभा और अश्लील डांस पर मिला नोटिस

इस चैनल के लांच के तत्काल बाद मोदी ने एक ट्वीट में यह कहते हुए एक चित्र साझा किया था कि चैनल “पीएम मोदी के जोरदार चुनावी अभियान और ढेर सारी आकर्षक सामग्रियों को प्रसारित करेगा.” कांग्रेस सोमवार को ईसी पहुंच गई और उसने (आचार संहिता लागू होने के बाद) नमो टीवी को एक राजनीतिक औजार के रूप में प्रमोट करने और अपने चुनावी अभियान के लिए सरकारी स्वामित्व वाले दूरदर्शन का इस्तेमाल करने के लिए मोदी और भाजपा के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की.

कांग्रेस ने ईसी से आग्रह किया कि सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय और डीटीएच सेवा प्रदाताओं को तत्काल और आवश्यक निर्देश जारी करे कि वे चैनल के खिलाफ कार्रवाई करें. आप ने भी ईसी में यह कहते हुए शिकायत दायर की है कि क्या आचार संहिता लागू होने के बाद किसी राजनीतिक दल को अपना चैनल शुरू करने की अनुमति दी जा सकती है.