मथुरा. लोकसभा चुनाव के प्रचार के दौरान जितनी सतर्कता विभिन्न दलों के उम्मीदवार रखते हैं, उससे कहीं ज्यादा चौकन्ना निर्वाचन आयोग होता है. आयोग विभिन्न दलों के उम्मीदवारों की एक-एक गतिविधि पर नजर बनाए रखता है, ताकि कहीं भी कोई भी प्रत्याशी अपने चुनाव प्रचार के दौरान बेजा लाभ न उठा ले. कोई भी प्रत्याशी आचार संहिता के नियमों का उल्लंघन न करे. उम्मीदवार भी सतर्क रहते ही हैं, लेकिन कभी-कभी परिस्थितियां तो कभी उनकी सभा का कोई आयोजक ही ऐसी मुसीबत खड़ी करवा डालता है. मथुरा से भाजपा की सांसद हेमामालिनी को अपनी चुनावी सभाओं के ऐसे ही आयोजकों की लापरवाही का खामियाजा भुगतना पड़ा है. इन आयोजकों ने पहले तो बगैर अनुमति के एक सरकारी स्कूल में सांसद की चुनावी सभा करा दी, और तो और इस सभा के दौरान कथित तौर पर अश्लील डांस का भी आयोजन करा डाला.

आजमगढ़ से अखिलेश यादव का मुकाबला करेंगे निरहुआ, भाजपा ने बनाया उम्मीदवार

हेमामालिनी की ऐसी सभा और इसमें हुए कार्यक्रम की किसी ने निर्वाचन आयोग को खबर कर दी. अब आयोग ने सांसद और उनकी सभा के आयोजकों को नोटिस भेजकर उनसे जवाब मांग लिया है. दरअसल, मथुरा लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार हेमामालिनी एवं उनकी चुनावी सभा आयोजित करने वालों को बुधवार को जिला प्रशासन ने नोटिस जारी किया. इसमें प्रशासन ने उनसे मंगलवार को बिना अनुमति छाता तहसील क्षेत्र के आझई गांव के पूर्व माध्यमिक विद्यालय में सभा करने पर जवाब मांगा है.

जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र ने बताया कि राष्ट्रीय लोकदल नेता ताराचंद्र गोस्वामी ने आपत्ति दर्ज कराई थी कि भाजपा प्रत्याशी ने उक्त गांव में एक अन्य स्थान पर सभा करने की अनुमति ली थी. लेकिन वहां सभा न कर पूर्व माध्यमिक विद्यालय में सभा का आयोजन किया और सभा में भीड़ जुटाने के लिए कथित तौर पर अश्लील डांस भी करवाया.

दो साल पहले के बयान ने किरीट सोमैया की राह में बोए कांटे, नहीं मिल सका चुनाव का टिकट

उन्होंने बताया, ‘‘इस मामले में सहायक निर्वाचन अधिकारी एवं छाता के उप-जिलाधिकारी को तुरंत नोटिस जारी कर प्रत्याशी हेमामालिनी एवं उनके दल के आयोजकों से इस मसले पर जवाब देने को कहा गया है. जवाब आने पर उनके खिलाफ विधि सम्मत कड़ी कार्यवाही की जाएगी.’’ रालोद नेता का आरोप है कि जिस समय यह चुनावी सभा आयोजित की जा रही थी उस समय विद्यालय में बच्चे पढ़ाई कर रहे थे, किंतु सभा की शुरुआत में ही हरियाणवी नाच-गाना प्रारम्भ कर दिए जाने से बच्चों की पढ़ाई भंग हो गई.

(इनपुट – एजेंसी)

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com