नई दिल्ली. दुनियाभर के 20 निर्वाचन आयोगों के प्रतिनिधि दिल्ली और आसपास में जारी लोकसभा चुनाव के गवाह बने. निर्वाचन आयोग ने रविवार को कहा, “दुनिया भर की यानी आस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, भूटान, बोस्निया एंड हरजेगोविना, फिजी, जॉर्जिया, केन्या, कोरिया गणराज्य (दक्षिण कोरिया) किर्गिस्तान, मलेशिया, मेक्सिको, म्यांमार, रोमानिया, रूस, श्रीलंका, सूरीनाम, संयुक्त अरब अमीरात, उज्बेकिस्तान और जिम्बाबवे की 20 निर्वाचन प्रबंधन संस्थाओं और इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट फॉर डेमोक्रेसी एंड इलेक्टोरल असिस्टैंस (आईडीईए) के प्रमुख और प्रतिनिधि मौजूदा आम चुनाव का गवाह बनने नई दिल्ली पहुंचे हैं.”

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com

आयोग ने कहा, “भारत निर्वाचन आयोग ने इलेक्शन विजिटर्स प्रोग्राम से जुड़ने के लिए 65 से अधिक इस तरह के प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया है.” प्रतिनिधियों ने उत्तर पश्चिम दिल्ली, पूर्वी दिल्ली, चांदनी चौक, दक्षिणी दिल्ली के साथ ही पड़ोसी हरियाणा के गुरुग्राम में विभिन्न मतदान केंद्रों का पूरे दिन दौरा किया और मतदान तथा मतदान के माहौल का अवलोकन किया. उन्होंने कुछ ऐसे मतदान केंद्रों का भी दौरा किया, जिसका प्रबंधन पूरी तरह महिलाकर्मियों द्वारा किया जा रहा था. उन्होंने कुछ आदर्श मतदान केंद्रों का भी दौरा किया, जहां मतदाताओं के लिए सर्वश्रेष्ठ सुविधाएं थीं.

छठे चरण के मतदान की पूर्व संध्या पर 11 मई को प्रतिनिधियों ने दक्षिण दिल्ली, पूर्वी दिल्ली, चांदनी चौक, पश्चिम दिल्ली और गुरुग्राम सीटों का दौरा किया और मतदान की तैयारियों की झलक देखी. इसके बाद प्रतिनिधियों ने द्वारका में स्थित ईसी के नए प्रशिक्षण एवं अनुसंधान परिसर, भारतीय अंतर्राष्ट्रीय लोकतंत्र एवं निर्वाचन प्रबंधन संस्थान (आईआईआईडीईएम) का दौरा किया. इस परिसर में एक बार में लगभग 900 लोगों को प्रशिक्षण देने की क्षमता है. ईसी ने कहा कि प्रतिनिधियों ने मतदान अधिकारियों से बातचीत की और उन प्रक्रियाओं को समझने की कोशिश की, जो हमारे चुनावों को विश्वसनीय और पारदर्शी बनाते हैं.