पणजी: गोवा में कांग्रेस ने चुनाव अधिकारियों द्वारा ईवीएम को लेकर ‘शिथिलतापूर्ण रवैये’ अपनाए जाने पर सवाल उठाया है. उन्होंने ईवीएम को मतदान केंद्र से राज्य के कई संबंधित जिलों में स्ट्रॉन्ग रूम ले जाने में बहुत अधिक देरी का आरोप लगाते हुए दावा किया कि इससे मशीनों की सुरक्षा में सेंध लगी हैं.

प्रियंका गांधी बनारस से नहीं लड़ेंगी चुनाव, कांग्रेस ने अजय राय को दिया टिकट

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुनील कवथंकर ने बुधवार देर रात पत्रकारों से कहा, “निर्वाचन आयोग ने ईवीएम को स्ट्रॉन्ग रूम ले जाने में जिस तरह का लापरवाहीपूर्ण रवैया अपनाया है, उसे देखकर हम आश्चर्यचकित और अचंभित हैं. खासकर उत्तरी गोवा में, जहां ईवीएम बुधवार शाम को स्ट्रॉन्ग रूम में पहुंची हैं. इसके बाद उन्होंने आरोप लगाया कि स्ट्रॉन्ग रूम में पहुंचने के बाद भी उन्हें बिना किसी सुरक्षा इंतजाम के ‘बेहद लापरवाही’ से रखा गया. कवथंकर ने कहा, “पहले से ही ईवीएम की सुरक्षा सवालों के घेरे में है, उस पर निर्वाचन आयोग का ऐसा लापरवाही भरा रवैया जनता के मन में संदेह उत्पन्न कर रहा है. यह अति आवश्यक है कि चुनाव तंत्र में लोगों के विश्वास को बनाए रखने के लिए ईवीएम को पूरी सुरक्षा के साथ रखना चाहिए.”

मतदाताओं को अगले साल जीवन स्तर में सुधार की उम्मीद, कुछ ने कहा- स्थिति बिगड़ेगी: सर्वे

इस आरोप के बाद उत्तरी गोवा की जिला रिटर्निग अधिकारी आर. मेनका ने कहा कि मतदान के बाद ईवीएम को पूरी सुरक्षा के साथ मतदान केंद्र से पणजी के पास सरकारी पॉलिटेक्निक कैंपस में बनाए गए स्ट्रॉन्ग रूम तक ले जाया गया. मेनका ने कहा, “ईवीएम और मतदान से संबंधित दस्तावेजों पर से क्षणभर के लिए भी सुरक्षाकर्मियों की नजर नहीं हटी. मतदान केंद्र से ईवीएम को ले जाने वाले सभी वाहनों की सरकारी पॉलिटेक्निक कैंपस में बने स्ट्रॉन्ग रूम जाने तक पूरी तरह से सुरक्षा का ख्याल रखा गया.”