नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने रविवार को कहा कि 23 मई को लोकसभा चुनाव के परिणाम एक्जिट पोल से बेहतर होंगे, जिसमें भाजपा नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के सत्ता में लौटने का अनुमान जाहिर किया गया है. कांग्रेस ने कहा कि एक्जिट पोल अतीत में गलत साबित हो चुके हैं और उसने भरोसा जताया कि पार्टी के लिए परिणाम रविवार के एक्जिट पोल से बेहतर होंगे.

Exit Poll पर बोली ममता बनर्जी, सब अटकलबाजी है, EVM बदलने की हो रही प्लानिंग

आम आदमी पार्टी (आप) ने भी कहा कि अतीत में एक्जिट पोल गलत साबित हुए हैं और भाजपा की जीत दिलाने वाले टीवी वैज्ञानिकों का प्रचार विफल होगा. नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने हालांकि कहा कि सभी एक्जिट पोल गलत नहीं हो सकते. उमर ने ट्वीट किया, “हरेक एक्जिट पोल गलत नहीं हो सकता. समय टीवी बंद करने और सोशल मीडिया बंद करने और इस बात का इंतजार करने का है कि क्या 23 मई को दुनिया अभी भी घूम सकती है भाजपा प्रवक्ता बिजय सोनकर शास्त्री ने कहा कि पार्टी एक्जिट पोल के अनुमान से बेहतर करेगी और यह अपने दम पर 300 सीटें जीतेगी. उन्होंने कहा कि राजग को 350 सीटें मिलेंगी. उन्होंने कहा कि यह एक्जिट पोल, सटीक नहीं है.

एग्जिट पोल में NDA की जीत की भविष्यवाणी पर उमर अब्दुल्ला बोले: 23 मई की कर रहा हूं प्रतीक्षा

मोदी सरकार ने जमीन पर किया काम
शास्त्री ने कहा कि मोदी सरकार ने जमीन पर काम किया है और शौचालय निर्माण तथा गैस कनेक्शन प्रदान कर विश्वास अर्जित किया है. उन्होंने कहा कि इसने एक स्थिर अर्थव्यवस्था प्रदान की, जिसने मध्य वर्ग की मदद की. उन्होंने कहा कि बड़ा बदलाव यह है कि राजनीतिक चर्चा जाति से विकास और आपूर्ति की तरफ मुड़ गई है. कांग्रेस प्रवक्ता राजीव गौड़ा ने कहा कि एक्जिट पोल हमेशा गलत होते हैं, और सीटों व वोट प्रतिशत का अनुमान लगाना बहुत कठिन है. उन्होंने कहा कि डर के मारे ढेर सारे लोग अपनी सही पसंद बताने से हिचकते हैं. हमें 23 मई का इंतजार करना चाहिए, परिणाम काफी अलग होंगे.

Poll Of Exit Polls: फिर एक बार मोदी सरकार, सीटें जा सकती हैं 300 पार

एक्जिट पोल से अलग होंगे परिणाम
कांग्रेस नेता पी.सी. चाको ने भी कहा कि परिणाम एक्जिट पोल से अलग होंगे और कई सारी संभावनाएं हैं, जो 23 मई को स्पष्ट होंगी. आप नेता संजय सिंह ने एक ट्वीट में कहा कि यदि टीवी वैज्ञानिकों को कोई शर्म है तो उन्हें दिल्ली के बारे में 2004, 2013 और 2015 के एक्जिट पोल को, और हाल में हुए राजस्थान व छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के एक्जिट पोल को याद करना चाहिए. माकपा नेता वृंदा करात ने एक्जिट पोल पर प्रतिक्रिया मांगे जाने पर कहा कि हमें 23 मई को इंतजार करना चाहिए. (इनपुट एजेंसी)

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com