नई दिल्ली. सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक ने फर्जी एकाउंट और स्पैम के खिलाफ खिलाफ कार्रवाई के तहत भारत के दो राजनीतिक दलों से जुड़े पेज और खाते अपने प्लेटफॉर्म से हटा दिए हैं. फेसबुक की तरफ से सोमवार को यह जानकारी दी गई कि उसने कांग्रेस पार्टी के आईटी सेल (सूचना प्रौद्योगिकी प्रकोष्ठ) से जुड़े कुल 687 पेज और एकाउंट हटा दिए हैं. कांग्रेस पार्टी से जुड़े खातों और पेज को हटाने के पीछे कंपनी ने कहा कि इनके जरिए फर्जी खबरें फैलाई जा रही थीं. वहीं, देर शाम कंपनी ने जानकारी दी कि उसने सिल्वर टच नामक भारतीय आईटी फर्म के 15 पेज और खातों को भी हटा दिया है. सिल्वर टच नामक यह फर्म प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नमो ऐप (Namo App) से जुड़ी हुई है. इसके अलावा कंपनी ने पाकिस्तान में शुरू किए गए 103 पेज, समूह और एकाउंट्स को भी फेसबुक और इंस्टाग्राम के मंच से हटाया है.

इससे पहले कांग्रेस के पेज और खातों को हटाने से संबंधित मामले पर फेसबुक ने कहा कि इन पेज और एकाउंट को ‘फर्जी खबर’ चलाने के लिए नहीं, बल्कि ‘स्पैम’ संदेशों के प्रसार और इनके माध्यम से आपस में तालमेल के साथ ‘प्रमाणहीन व्यवहार’ करने के कारण हटाया गया है. फेसबुक में साइबर सुरक्षा नीतक के प्रमुख नैथेनियल ग्लेइशर ने संवाददाताओं से कहा कि फेसबुक ने 687 पेजों और खातों को हटाया है. इनमें से अधिकतर को उसकी स्वचालित प्रणाली ने पहचान करके हटा दिया. ये सभी पेज भारत में ‘आपसी तालमेल से प्रमाणहीन व्यवहार करते पाए गए’ और ये सभी कांग्रेस के आईटी सेल से जुड़े व्यक्तियों के खाते हैं.

उन्होंने कहा कि हमने पेज और खातों के इस इस नेटवर्क को हटा दिया है. इन्हें हटाने का कारण यह है कि इसमें फर्जी एकाउंट के नेटवर्क के माध्यम से तालमेल कर के प्रमाणहीन व्यवहार किया जा रहा था. उन्होंने स्पष्ट किया कि इन पेजों और खातों को इनकी सामग्री की वजह से नहीं हटाया गया है. इधर, इस बारे में कांग्रेस ने कहा है कि पार्टी का कोई आधिकारिक पेज या खाता बंद नहीं किया गया है. यहां तक कि उसके कार्यकर्ताओं के पेज व खाते भी फेसबुक की ताजा कार्यवाही से अप्रभावित हैं. कांग्रेस ने अपने टि्वटर हैंडल पर इस बाबत लिखे पोस्ट में कहा है कि पार्टी ने फेसबुक से उन सभी पेज व खातों की जानकारी मांगी है, जिन्हें स्पैम मैसेज फैलाने के आरोप में कंपनी के प्लेटफॉर्म से हटाया गया है.

(इनपुट – एजेंसी)

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com