हैदराबाद. तेलंगाना में निजामाबाद लोकसभा सीट से सीएम के. चंद्रशेखर राव (KCR) की बेटी के. कविता के खिलाफ चुनाव लड़ रहे किसानों ने अनोखी मांग रखी है. इन किसानों ने लोकसभा चुनाव में प्रचार करने के लिए निर्वाचन आयोग से समय की मांग की है. किसानों ने मंगलवार को निर्वाचन आयोग से आग्रह किया कि इस सीट पर चुनाव 10 दिन के लिए स्थगित किया जाए, जिससे कि उन्हें प्रचार के लिए पर्याप्त समय मिल सके. लोकसभा चुनाव में 100 से ज्यादा किसानों का यह समूह अपनी जिस मांग के लिए चुनाव लड़ रहा है, उसे जानकर आप हैरत में पड़ जाएंगे. ये किसान हल्दी और ज्वार की MSP यानी न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सरकार द्वारा उचित कार्रवाई न करने के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं. आपको बता दें कि तेलंगाना की निजामाबाद सीट से सीएम KCR की बेटी कविता दूसरी बार चुनाव मैदान में ताल ठोंक रही हैं. कविता लगातार चुनाव प्रचार कर अपनी जीत की कोशिशों में लगी हैं. Also Read - Coronavirus Unlock 6: इस राज्य में जल्द खुलने वाले हैं सिनेमाहाल, मुख्यमंत्री ने दी बड़ी जानकारी

पूर्व क्रिकेटर गंभीर ने उमर अब्दुल्ला को दी पाक जाने की सलाह तो बोले पूर्व सीएम- आईपीएल पर ट्वीट करो गौतम Also Read - तेलंगाना में 15 अप्रैल के बाद भी जारी रह सकता है लॉकडाउन, मुख्यमंत्री चन्द्रशेखर राव ने पीएम मोदी से किया अनुरोध

किसानों ने निर्वाचन आयोग और तेलंगाना के मुख्य निर्वाचन अधिकारी को अपनी मांगों के बाबत ज्ञापन भेजा है. अपने ज्ञापन में इन किसानों ने जो मांग रखी है, उसे पढ़कर आप भी इनके तर्क से सहमत हो सकते हैं. दरअसल, इन किसानों ने कहा है, ‘‘राजनीतिक दल चुनाव प्रक्रिया शुरू होने से पहले ही मतदाताओं के बीच अपने चुनाव चिह्न का प्रचार-प्रसार करते रहे हैं. उनमें से अधिकतर मतदाताओं के बीच जाने-पहचाने हैं, वहीं हम किसान हैं और हमें चुनाव चिह्न बिल्कुल हाल में मिला है, हम चुनाव लड़ने के समान अवसर और अपने चुनाव चिह्न को अपने निर्वाचन क्षेत्र में जनता तक ले जाने से वंचित हैं.’’ किसानों ने ज्ञापन में लिखा, ‘‘इसलिए हम आपसे आग्रह करते हैं कि चुनाव को 10 दिन के लिए स्थगित किया जाए या फिर निजामाबाद सीट के लिए इसे दूसरे चरण में कराया जाए.’’ Also Read - Corona: इस सीएम का दावा- हमारा राज्य 7 अप्रैल तक हो जाएगा Covid-19 से मुक्त

तेलंगाना की निजामाबाद सीट पर लोकसभा चुनाव के पहले चरण में 11 अप्रैल को मतदान होना है. इस सीट पर होने वाले चुनाव के लिए 170 से अधिक किसानों ने KCR की बेटी के विरोधस्वरूप नामांकन दाखिल किया है. इन किसानों का आरोप है कि तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) हल्दी और लाल ज्वार के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य सुनिश्चित करने तथा निजामाबाद में हल्दी बोर्ड स्थापित करने में विफल रही है. किसानों ने यह भी मांग की है कि चुनाव में ईवीएम की जगह मतपत्रों का इस्तेमाल किया जाना चाहिए. संबंधित सीट पर किसानों सहित 185 उम्मीदवार मैदान में हैं.

(इनपुट – एजेंसी)

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com