गोरखपुर. मशहूर भोजपुरी फिल्म अभिनेता रवि किशन ने कहा है कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जीवन पर भोजपुरी में एक फ़िल्म बनाएंगे, ताकि यह बोली बोलने वाला समाज भी मोदी की जिंदगी के बारे में जान सके. उन्होंने यह भी कहा कि चुनाव के बाद वह स्वामी विवेकानंद और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जीवन पर भी भोजपुरी फिल्म बनाने के लिए काम शुरू करेंगे. गोरखपुर से भाजपा के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ रहे रवि किशन ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘‘ऐसा नहीं है कि राजनीति में आने के बाद मैं फिल्मों से अलग हो जाऊंगा. यहीं (गोरखपुर में) स्टूडियो बनाएंगे औेर फिल्मों की शूटिंग करेंगे. साथ में जनता की सेवा भी होगी.’’

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com

रवि किशन ने कहा, ‘‘मेरे दिमाग में भोजपुरी सिनेमा में कई चीजें करने के लिए हैं. मोदी जी पर भी बायोपिक बनाएंगे ताकि भोजपुरी समाज भी उनके जीवन के बारे में जाने.’’ भाजपा प्रत्याशी ने कहा, ‘‘इसके अलावा स्वामी विवेकानंद और अटल बिहारी वाजपेयी के जीवन पर भी भोजपुरी फिल्म बनाने की सोच रहा हूं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘मोदी जी के जीवन से मैं बहुत प्रभावित हूं. 2014 में मोदी जी ने जब शौचालय के बारे में बात की…., ऐसा मैंने पहली बार देखा था कि किसी प्रधानमंत्री की यह सोच भी हो सकती है. मैं उनसे बहुत प्रभावित हुआ.’

मिलिए डंडा गुरू से, जो पूर्वांचल में साइकिल चलाकर पीएम मोदी के लिए करेंगे चुनाव प्रचार

भोजपुरी अभिनेता ने कहा कि चुनाव के बाद वह इन फिल्मों को लेकर काम शुरू करेंगे. उन्होंने हालांकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बायोपिक ‘पीएम नरेंद्र मोदी’ को लेकर कोई टिप्पणी नहीं की. गौरतलब है कि विवेक ओबेरॉय स्टारर बायोपिक ‘पीएम नरेंद्र मोदी’ पहले 11 अप्रैल को रिलीज होनी थी, लेकिन चुनाव आयोग ने आचार संहिता का हवाला देते हुए इस पर प्रतिबंध लगा दिया. उच्चतम न्यायालय ने भी इस बायोपिक की रिलीज पर प्रतिबंध लगाने के आयोग के आदेश में हस्तक्षेप करने से इनकार कर दिया. अब यह फ़िल्म 24 मई को रिलीज होगी. फिल्म में अभिनेता विवेक ओबेरॉय ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भूमिका निभाई है.

लोकसभा चुनाव के छठे चरण में इन सीटों पर होगी कांटे की टक्कर, ये दिग्गज हैं मैदान में

कांग्रेस समेत विपक्षी दलों ने इसका प्रदर्शन चुनाव तक स्थगित किए जाने की मांग करते हुए आरोप लगाया था कि यह फिल्म भाजपा को चुनाव में फायदा देगी. क्या रविकिशन राजनीति को लेकर गंभीर हैं ? इस पर उन्होंने कहा, ‘मुझे एन टी रामा राव और विनोद खन्ना की तरह संजीदा नेता बनना है जो फिल्म से राजनीति में आए और पूरी संजीदगी से काम किया. अगर मैं राजनीति को गंभीरता से नहीं लेता तो फिर इतना अच्छा करियर बीच में छोड़कर राजनीति में क्यों आता?’ उन्होंने कहा, ‘ प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री योगी ने मेरे ऊपर हाथ रखा क्योंकि उन्होंने मेरी गंभीरता को समझा है.’