नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी को गुजरात में बड़ा झटका लगने वाला है. पार्टी के युवा नेता और तेजतर्रार विधायक अल्पेश ठाकोर बहुत जल्द भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने वाले हैं. राज्य की सियासत में लग रहे अनुमानों की मानें तो अल्पेश ठाकोर न सिर्फ कांग्रेस छोड़कर भाजपा की सदस्यता ग्रहण करने वाले हैं, बल्कि उन्हें राज्य सरकार में मंत्री पद भी दिया जाने वाला है. खबर है कि उनके राज्य सरकार में मंत्री पद की शपथ लेने के साथ ही औपचारिक रूप से भाजपा में शामिल होने का एलान किया जाएगा. आपको बता दें कि अल्पेश ठाकोर न सिर्फ गुजरात में कांग्रेस के बड़े चेहरे के तौर पर जाने जाते हैं, बल्कि पार्टी ने उन्हें बिहार का प्रभारी सचिव भी बना रखा है. वे राज्य में ओबीसी नेता के तौर पर भी जाने जाते हैं.

अल्पेश ने कहा- बकवास है ऐसी खबरें
हमारी सहयोगी अंग्रेजी वेबसाइट जीन्यूज.कॉम के अनुसार, गुजरात के राधनपुर से कांग्रेस पार्टी के विधायक अल्पेश ठाकोर ने हालांकि सियासी गलियारों में चल रही इन चर्चाओं को फेक-न्यूज करार दिया है. उन्होंने कहा कि उनके भाजपा में शामिल होने को लग रही अटकलों को लेकर वे शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर स्थिति स्पष्ट कर देंगे. ठाकोर ने कहा कि भाजपा में शामिल होने की खबरें बकवास है. लेकिन इस बीच खबर है कि राज्य सरकार के दो मंत्रालय आजकल खाली हैं. यानी इन दोनों में से किसी एक की जिम्मेदारी अल्पेश ठाकोर को दी जा सकती है. आपको बता दें कि अल्पेश ठाकोर के पार्टी छोड़ने की खबरें ऐसे समय में आ रही हैं, जबकि अगले कुछ दिनों में पार्टी की नव-नियुक्त महासचिव प्रियंका गांधी की गुजरात में पहली सभा होने वाली है.

लोकसभा चुनावः कांग्रेस ने जारी की पहली लिस्ट, रायबरेली सीट से प्रियंका नहीं होंगी प्रत्याशी

भाजपा ने कहा- खुद निर्णय करें ठाकोर
अल्पेश ठाकोर के कांग्रेस पार्टी छोड़ने और राज्य के सत्तारूढ़ दल के साथ मिलने को लेकर सियासी गलियारों में चर्चाएं भले गर्म हों, लेकिन भाजपा अभी तक इस मुद्दे पर चुप्पी साधे हुए है. जीन्यूज.कॉम के अनुसार, गुजरात भाजपा के प्रमुख जीतू वाघाणी ने ठाकोर के पार्टी में शामिल होने को लेकर कहा कि भाजपा के दरवाजे सभी के लिए हमेशा खुले हुए हैं. लेकिन अब यह अल्पेश ठाकोर पर है कि वह क्या निर्णय लेते हैं. भाजपा ने अभी तक इस मामले को लेकर ठाकोर से किसी भी तरह का कोई संपर्क नहीं किया है.

कांग्रेस से क्यों नाराज हैं अल्पेश
गुजरात में ओबीसी के बड़े नेता और कांग्रेस पार्टी के तेजतर्रार विधायक अल्पेश ठाकोर की अपनी पार्टी से नाराजगी की कई वजहें हैं, जिसके कारण उनके भाजपा में शामिल होने की खबरें आ रही हैं. अल्पेश ठाकोर पिछले कुछ समय से लगातार ये आरोप लगा रहे हैं कि पार्टी में उनकी उपेक्षा की जा रही है. इसी कारण हाल के दिनों में उनके ऐसे कई बयान आए हैं, जिनसे पार्टी को परेशानी हुई है. हाल ही में अल्पेश ने पार्टी के राज्य नेतृत्व की तीखी आलोचना की थी. हालांकि इसके बाद उन्होंने यह भी कहा था कि वह पार्टी के साथ विद्रोह नहीं कर रहे हैं.

अप्रैल-मई में हो सकते हैं लोकसभा चुनाव, निर्वाचन आयोग जल्द कर सकता है घोषणा

अपने बयान में ठाकोर ने कहा था कि पार्टी ने उन्हें धोखा दिया है. उनकी लगातार उपेक्षा की जा रही है. अल्पेश ठाकोर ने कहा था कि गुजरात कांग्रेस की कमान कमजोर नेताओं के हाथ में है. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अमित चावड़ा पर परोक्ष रूप से प्रहार करते हुए ठाकोर ने पार्टी की प्रदेश इकाई की कार्यशैली को लेकर भी सवाल उठाए थे. बहरहाल, ठाकोर के इन रुखों को देखते हुए सियासी जानकार भले उनके भाजपा में जाने की अटकलें लगा रहे हों, लेकिन भाजपा ने अभी तक ऐसा कोई न्योता अल्पेश ठाकोर को नहीं दिया है. अब देखना है कि प्रियंका गांधी की गुजरात में होने वाली पहली सभा से पहले अल्पेश कांग्रेस छोड़कर भाजपा का दामन थाम लेते हैं, या फिर पार्टी उनका ‘मनोबल’ बनाए रखती है.

लोकसभा चुनाव से संबंधित खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com