नई दिल्ली: राजस्थान के दिग्गज गुर्जर नेता किरोड़ी सिंह बैंसला और उनके बेटे विजय बैंसला बुधवार को भाजपा में शामिल हो गए. उन्होंने दिल्ली स्थित भाजपा कार्यालय में केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, सांसद अनिल बलूनी की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की. इस अवसर पर किरोड़ी सिंह बैंसला ने कहा कि वह गुर्जर आरक्षण आंदोलन से पिछले 14 साल से जुड़े हुए हैं और इस दौरान उन्होंने दोनों दलों कांग्रेस, भाजपा के मुख्यमंत्रियों को नजदीक से अनुभव किया है और दोनों दलों की कार्यशैली, विचारधारा देखी.

आरक्षण आंदोलन का नेतृत्व करने वाले गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के नेता किरोड़ी सिंह बैंसला को पार्टी मुख्यालय पर केंद्रीय मंत्री और राजस्थान चुनाव प्रभारी प्रकाश जावड़ेकर और राज्य सभा सांसद अनिल बलूनी की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता दिलाई गई. बैंसला के बेटे विजय बैंसला ने भी पार्टी की सदस्यता ली.

भारतीय सेना में सेवा देने से लेकर अपनी खुद की सेना बनाने वाले बैंसला ने 1962 में चीन के खिलाफ और 1965 में पाकिस्तान के खिलाफ सैनिक के रूप में अपनी सेवाएं दीं. बैंसला ने कहा, “कांग्रेस और भाजपा की विचारधारा और काम करने के तरीके का बारीकी से विश्लेषण करने के बाद मैंने भाजपा में शामिल होने का निर्णय लिया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुझे अद्वितीय नेता लगे. मैं उनसे बहुत प्रभावित हुआ.” उन्होंने कहा कि वे पिछड़ा वर्ग के लिए आगे भी काम करते रहेंगे.

बैंसला ने कहा कि वह भाजपा में इसलिए शामिल हो रहे हैं, क्योंकि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से प्रभावित हैं, जो साधारण से साधारण आदमी का सुख-दुख समझते हैं. बैंसला ने कहा कि उन्हें पद का लालच नहीं है और वह चाहते हैं कि न्याय से वंचित लोगों को उनका हक मिले. केंद्रीय मंत्री पी.पी. चौधरी ने भाजपा में शामिल होने पर उन्हें शुभकामनाएं दीं. बता दें कि बैंसला से पहले राजस्थान के वरिष्ठ नेता हनुमान बेनिवाल ने भाजपा से हाथ मिलाया है.