नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के चुनावी मैदान में कांग्रेस हो या भाजपा, दोनों ही दल अपने-अपने नेताओं या कार्यकर्ताओं के मुकाबले चर्चित हस्तियों को उतार रहे हैं. गौतम गंभीर, बॉक्सर विजेंदर सिंह और अब हंसराज हंस. दिल्ली के चुनावी रण में ये तीनों सेलिब्रिटी आगामी लोकसभा चुनावों में कांग्रेस और भाजपा की तरफ से प्रत्याशी बनाए गए हैं. इनमें से गौतम गंभीर और हंसराज हंस जहां भाजपा की तरफ से उम्मीदवार हैं, वहीं विजेंदर सिंह कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं.

भाजपा ने उत्तर-पश्चिमी दिल्ली (सुरक्षित) लोकसभा सीट से पंजाबी लोकगायक हंसराज हंस को अपना उम्मीदवार घोषित किया है. हंसराज हंस को भाजपा से टिकट मिलना इसलिए महत्वपूर्ण हो गया है, क्योंकि इस सीट से वर्ष 2014 में दलित नेता उदित राज भाजपा के टिकट पर चुनाव जीते थे. लेकिन इस बार पार्टी ने उनका टिकट काट दिया है. इसके विरोध में उदित राज ने पार्टी छोड़ने की धमकी दी है. भाजपा से विरोधस्वरूप उदित राज ने टि्वटर पर अपने नाम के आगे से ‘चौकीदार’ शब्द हटा लिया है. उदित राज को टिकट न मिलने और हंसराज हंस के भाजपा की तरफ से मैदान में उतरने के कारण अब उत्तर-पश्चिमी लोकसभा सीट का चुनाव और रोचक हो गया है.

लोकसभा चुनावः तीसरे चरण में इन वीआईपी उम्मीदवारों पर रहेगी नजर

सोमवार की शाम तक भाजपा ने दिल्ली की 7 में से 6 लोकसभा सीटों पर अपने उम्मीदवारों के नाम की घोषणा की थी. इसमें सिर्फ उत्तर-पश्चिमी दिल्ली सीट के प्रत्याशी का नाम ही घोषित नहीं किया गया था. उस समय तक सांसद उदित राज के विरोध के कारण सियासी जानकारों को लग रहा था कि एक बार फिर इस दलित नेता को बीजेपी टिकट देगी. लेकिन मंगलवार की सुबह हंसराज हंस के नाम की घोषणा के साथ ही इस सीट से भाजपा के उम्मीदवार का नाम साफ हो गया है. आपको बता दें कि हंसराज हंस पिछले करीब 10 वर्षों से राजनीति में सक्रिय हैं. सबसे पहले उन्होंने अपने गृहराज्य में शिरोमणि अकाली दल की सदस्यता ली थी. इस पार्टी की तरफ से वह जालंधर सीट से चुनाव भी लड़े, लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा.

लोकसभा चुनाव तीसरा चरणः पीएम मोदी पहुंचे गांधीनगर, मां को प्रणाम कर डाला वोट

वर्ष 2014 में हंसराज हंस ने शिअद को छोड़ दिया. इसके बाद वह अगले दो वर्षों तक कांग्रेस में रहे, लेकिन वर्ष 2016 में उन्होंने भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली. अब जबकि भाजपा ने उन्हें उत्तर-पश्चिमी दिल्ली से लोकसभा चुनाव में अपना उम्मीदवार बनाया है, तो हंसराज इस भगवा पार्टी का झंडा बुलंद करेंगे. हालांकि, सियासी जानकारों का मानना है कि इस सुरक्षित लोकसभा सीट से मौजूदा सांसद उदित राज को टिकट न मिलने की वजह से हंसराज हंस को पार्टी की अंदरूनी नाराजगी का सामना करना पड़ सकता है. इसके अलावा, भाजपा ने क्रिकेटर से नेता बने गौतम गंभीर को भी चुनावी अखाड़े में उतार दिया है. गंभीर ने अभी हाल ही में भाजपा की सदस्यता ली है.

गौतम गंभीर को भाजपा ने पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट से अपनी पार्टी का उम्मीदवार बनाया है. गंभीर के खिलाफ कांग्रेस की तरफ से जहां अरविंदर सिंह लवली चुनाव मैदान में हैं. वहीं, आम आदमी पार्टी से आतिशी चुनावी अखाड़े में इन दोनों राष्ट्रीय दलों के प्रत्याशियों का सामना करेंगी. इसके अलावा दक्षिण दिल्ली से कांग्रेस के टिकट पर बॉक्सर विजेंदर सिंह चुनाव लड़ रहे हैं. उनके खिलाफ भाजपा की ओर से रमेश विधूड़ी चुनाव मैदान में हैं.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com