जयपुर: भारतीय जनता पार्टी ने राजस्थान में हनुमान बेनीवाल की राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (आरएलपी) से गठजोड़ करने की घोषणा की है. बेनीवाल राज्य के कद्दावर जाट नेता हैं. इस गठजोड़ के तहत भाजपा राज्य की 25 में से नागौर की एक सीट आरएलपी के लिए छोड़ेगी. इस सीट पर विधायक बेनीवाल खुद चुनाव लड़ेंगे.

केंद्रीय मंत्री और पार्टी के चुनाव प्रदेश प्रभारी प्रकाश जावड़ेकर और बेनीवाल ने यहां भाजपा कार्यालय में संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में यह घोषणा की. जावड़ेकर ने बताया कि लोकसभा चुनाव के लिए यह गठजोड़ किया गया है जिसके तहत पार्टी राज्य की नागौर सीट आरएलपी को देगी. बदले में आरएलपी राजस्थान के साथ साथ पड़ोसी हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश व दिल्ली जैसे राज्यों में भाजपा का समर्थन देगी और उसके प्रत्याशियों को जिताने में मदद करेगी.

एक सवाल के जवाब में बेनीवाल ने स्वीकार किया कि नागौर की सीट से वह खुद चुनाव लडेंगे. भाजपा ने इस सीट के लिए अभी अपने प्रत्याशी की घोषणा नहीं की है. उल्लेखनीय है कि बेनीवाल कभी भाजपा में ही हुआ करते थे. 2008 में वह भाजपा की टिकट से विधायक बने लेकिन 2013 में निर्दलीय के रूप में विधानसभा पहुंचे. पिछले दिसंबर में विधानसभा चुनाव से पहले उन्होंने अपनी पार्टी राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी बनायी जिसने तीन सीटों पर जीत दर्ज की. कुछ दिन पहले तक वह कांग्रेस तथा तीसरे मोर्चे के दलों के साथ मिलकर चुनाव लड़ने की बात कह रहे थे. बेनीवाल ने संवाददाताओं के सवालों के जवाब में कहा कि राष्ट्रहित, किसानों और युवाओं के हितों को ध्यान में रखते हुए उन्होंने भाजपा से हाथ मिलाया है ताकि नरेंद्र मोदी को एक बार फिर प्रधानमंत्री बनाया जा सके.

(इनपुट-भाषा)