आम्बेडकर नगर: पीएम नरेंद्र मोदी ने यूपी के आम्बेडकर नगर में बुधवार को चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि आपका प्यार यही मेरी पूंजी और ऊर्जा है.. मर्यादा पुरुषोत्तम राम की धरती है, देश के स्वाभिमान की धरती है. उन्‍होंने बाबा साहेब आम्बेडकर का नाम जिस शहर से जुड़ा हो, जिस शहर से राम मनोहर लोहिया जी का नाम जुड़ा हो, ऐसे शहर में आकर मैं खुद को गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं. उन्‍होंने कहा, ये मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्रीराम की भूमि है. ये स्वाभिमान की धरती है. देश में यही स्वाभिमान पिछले 5 साल में और बढ़ा है. हम 130 करोड़ लोगों की भुजाओं को साथ लेकर चले हैं. अब इन्ही भुजाओं की सामर्थ्य पर हम नए भारत का सपना साकार करने की तरफ बढ़ रहे हैं. पिछले पांच सालों में देश का स्वाभिमान बढ़ा है, नए भारत का सपना साकार करने की तरफ बढ़ रहे हैं. मोदी ने कहा मैंने हर गरीब के दर्द को समझा है, उसके दर्द को सुना है, उसकी बीमारी को समझा और उसकी जिंदगी को जाना है, इसलिए आयुष्मान भारत योजना से मैं गरीबों की बीमारी से लड़ रहा हूं.

सपा-बसपा और कांग्रेस का आतंक पर नरमी का पुराना रिकॉर्ड
मोदी ने कहा कि सपा-बसपा और कांग्रेस का आतंक पर नरमी का पुराना रिकॉर्ड रहा है. हमारी सुरक्षा एजेंसियां आतंक के मददगारों को पकड़ती थीं और ये वोट के लिए उनको छोड़ देते थे. आज ये सभी महामिलावटी फिर से केंद्र में एक मजबूर सरकार बनाने के चक्कर में हैं. पीएम ने 2014 से पहले अयोध्या, फैजाबाद और अन्य जगह कैसे-कैसे धमाके हुए ये हम कैसे भूल सकते हैं. वो दिन हम कैसे भूल सकते हैं जब आए दिन भारत में हमला होता था. बीते पांच वर्ष में इस तरह के धमाकों की खबर आनी बंद हो गई हैं. हम एक नए हिंदुस्तान के रास्ते पर चल पडें हैं, जो छेड़ता नहीं है, लेकिन कोई छेड़ेगा तो छोड़ता भी नहीं है. खतरा सीमा के भीतर हो या फिर सीमा के पार, ये नया हिंदुस्तान घर में घुसकर मारेगा. गोली का जवाब गोले से देगा.

पहली बार देश में किसी सरकार ने गरीबों और श्रमिकों के बारे में सोचा
मोदी ने कहा कि हमारे देश के 40 करोड़ से ज्यादा श्रमिक भाई-बहनों की इन पार्टियों ने कभी परवाह ही नहीं की. श्रमिकों और गरीबों को वोटबैंक में बांटकर इन लोगों ने सिर्फ अपना और अपने परिवार का फायदा कराया. पहली बार देश में किसी सरकार ने गरीबों और श्रमिकों के बारे में सोचा है. हमने उनकी परवाह की है, उनका जीवन आसान बनाने के लिए काम किया है.

हमारी सरकार ‘पीएम श्रम योगी मानधन’ योजना लाई
प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार हाल हीं में ‘पीएम श्रम योगी मानधन’ योजना लाई है. इससे श्रमिक साथियों को 60 वर्ष की आयु के बाद 3 हजार रुपए तक की पेंशन सुनिश्चित होगी. पीएम ने कहा कि इसके अलावा हमारी सरकार ने गरीबों के लिए एक रुपए प्रति महीने में दो लाख रुपए का बीमा और प्रति दिन 90 पैसे में दो लाख का एक और बीमा देने का प्रावधान किया है. हमारे गरीब श्रमिक भाई-बहनों को इलाज के लिए पैसे न खर्च करने पड़ें, इसके लिए आयुष्मान भारत योजना भी हमारी सरकार चला रही है. इस योजना के अंतर्गत उन्हें हर साल 5 लाख रुपए तक का मुफ्त इलाज मिलना तय हुआ है.

एसपी ने लोहिया जी के आदर्शों को मिट्टी में मिला दिया
मोदी ने कहा कि एसपी बीएसपी कांग्रेस की सच्चाई जानना जरूरी है, बहन जी ने बाबा साहब के नाम का उपयोग किया, लेकिन हर काम उनके आदर्श के विपरीत काम किया, एसपी ने लोहिया के नाम का उपयोगा किया लेकिन अपने आचरण से लोहिया जी के आदर्शों को मिट्टी में मिला दिया. क्या बहुजन हिताय बाबा साहब की बात करनेवालों को श्रमितकों की बात करनी चाहिए थी, कि नहीं? प्रधानमंत्री ने कांग्रेस को श्रमिकों की बात करनी चाहिए थी की नहीं? 40 करोड़ से ज्यादा श्रमिकों की इन पार्टियों ने चिंता नहीं की. सिर्फ अपना और अपने पार्टी का फायदा कराया.

चायवाल नहीं सोचता कि बच्चा चायवाला बने
मोदी ने कहा कोई अपने बच्चे को गरीब नहीं देखना चाहता चायवाल नहीं सोचता कि बच्चा चायवाला बने सब्जीवाला नहीं सोचता कि बच्चा सब्जीवाला बने. गरीब आगे बढ़ना चाहता है, पहली बार देश में किसी ने गरबी श्रमिकों के बारे में सोचा है.. हमने उनकी परवाह की है. उन्‍होंने कहा कि आप इतना प्यार दिखाते हैं, उधर एसपी बीएसपी का बीपी बढ़ जाता है और फिर चिल्लाएंगे कि मोदी का डॉक्टर नहीं आय़ा.

मैंने हर गरीब के दर्द को समझा है, उसके दर्द को सुना है
मोदी ने कहा मैंने हर गरीब के दर्द को समझा है, उसके दर्द को सुना है, उसकी बीमारी को समझा और उसकी जिंदगी को जाना है, इसलिए आयुष्मान भारत योजना से मैं गरीबों की बीमारी से लड़ रहा हूं. उन्‍होंने मिशन इंद्रधनुष के तहत हमने जानलेवा बीमारी से बचाव के लिए टीकाकरण का दायरा बढ़ाया है. इस योजना का लाभ भी बड़े स्तर पर गरीब भाई-बहनों को हो रहा.

हर किसी के लिए कम से कम 1000 रु पेंशन सुनिश्चित की
मोदी ने कहा कि हमारी आंगनवाड़ी बहनों, आशा बहनों, एएनएम बहनों और हमारे डाकियों के वेतन में बरसों बाद वृद्धि का काम भी हमारी ही सरकार ने किया है. उन्‍होंने कहा कि पहले की सरकारें कितनी असंवेदनशील थी इसका एक उदाहरण है कि 2014 में जब मैं सरकार में आया तो पता चला कि पहले की पेंशन योजनाओं में किसी को 50-60-70 रुपए मिल रहे थे. हमारी सरकार ने एक झटके से ये बंद किया और हर किसी के लिए कम से कम 1000 रु पेंशन सुनिश्चित की.

योग, हमारी संस्कृति का सदियों से हिस्सा
पीएम ने कहा कि योग, हमारी संस्कृति का सदियों से हिस्सा है. लेकिन पूरी दुनिया 21 जून को योग दिवस मनाए, ये काम हमारी सरकार ने किया है. कुंभ भी हज़ारों साल से होता आ रहा है. लेकिन जो दिव्यता और भव्यता इस बार प्रयागराज में दिखी वो अभूतपूर्व है.

रामायण सर्किट, कृष्ण सर्किट, बौद्ध सर्किट सहित 15 सर्किटों पर काम
पीएम ने कहा कि जब एशियन समिट के दौरान, वहां से आए कलाकार अपने-अपने देशों में प्रचलित रामायण के अंश प्रस्तुत करते हैं, तो सबकी नजर जाती है. उन्‍होंने कहा कि देश में अभी स्वदेश दर्शन नाम से एक व्यापक कार्यक्रम चल रहा है. जिसके अंतर्गत देश में रामायण सर्किट, कृष्ण सर्किट, बौद्ध सर्किट सहित 15 सर्किटों पर काम चल रहा है. रामायण सर्किट के तहत अयोध्या से लेकर रामेश्वरम तक, सभी स्थानों को विकसित किया जा रहा है.

आप अपने सपने बोएंगे, जो साकार होंगे
मोदी ने कहा कि आप जब कमल के फूल पर बटन दबाएंगे, इसका मतलब है कि आप अपने सपने बोएंगे, जो साकार होंगे. आप कमल के फूल पर बटन दबाएंगे, इसका मतलब आपके अंदर एक ऐसा देशभक्त उभरकर आएगा जो देश के लिए जिएगा.