चेन्नई: आयकर अधिकारियों ने तमिलनाडु के वेल्लूर जिले में एक सीमेंट गोदाम से करोड़ों रुपयों की नकदी बरामद बरामद करने में सफलता हासिल की है. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि यह गोदाम द्रमुक के एक नेता का है. जब्ती की यह घटना ऐसे समय में हुई है, जबकि 18 अप्रैल को राज्य में लोकसभा चुनाव के लिए वोट डाले जाने हैं. न्‍यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, इनकम टैक्‍स के छापे में 11. 53 करोड़ रुपए जब्‍त हुए हैं. आयकर विभाग ने राज्य के वेल्लोर जिले में सोमवार को द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (द्रमुक) के एक पदाधिकारी के सीमेंट गोदाम से बड़ी संख्या में नकदी  जब्त की गई, जिसके बाद असमंजस की स्थिति बनी हुई है कि इस सीट पर 18 अप्रैल को होने वाला चुनाव होगा या इसे स्थगित कर दिया जाएगा.

सोमवार को आयकर विभाग के अधिकारियों ने एक द्रमुक अधिकारी के सीमेंट गोदाम से कर्टन और बोरों से नकद के बंडलों को जब्त किया था. द्रमुक पार्टी के पदाधिकारी को पार्टी के कोषाध्यक्ष दुरईमुरुगन का करीबी बताया जा रहा है. नकदी रखने का यह खेल करोड़ों रुपए का है.

इस नकदी को क्षेत्रवार ढंग से बांटने के लिए गत्ते के डिब्बों और थैलियों में भर कर रखा गया था. यह छापा द्रमुक कोषाध्यक्ष दुरैमुरूगन के वेल्लोर स्थित परिसर पर छापेमारी में साढ़े दस लाख रुपए बरामद करने के कुछ दिनों के बाद मारा गया. यह नकदी संभवतया उस एक कॉलेज से यहां लाई गई है, जहां 30 मार्च को छापा मारा गया था.