नई दिल्‍ली: एक  विशेष इंटरव्‍यू में पीएम नरेंद्र मोदी से जब उनके खिलाफ उपयोग किए जा रहे अपशब्‍दों पर जी न्‍यूज (Zee News) के एडिटर इन चीफ सुधीर चौधरी ने उनकी प्रतिक्रिया जाननी चाही तो उन्‍होंने कहा, हम जिस गरीबी, पिछड़ेपन से निकले हैं, वहां हमने जगह-जगह अपमान सहे हैं. बड़े लोग हमें डांटते रहे हैं, गाली देते रहे हैं. नामदारों के जहन में ही भरा है कि ये बाकी लोग तो तुच्छ हैं. मुझे जो गालियां पड़ती हैं, उसके मूल में यही मानसिकता है.

पीएम ने कहा, मैं इंसान हूं, दर्द मुझे भी होता है. लेकिन मेरी कुछ जिम्मेदारियां, इसलिए उस दर्द को पी जाता हूं और ये आज से नहीं पिछले 20 साल से पीते आया हूं. गाली देने वालों से पूछिए ऐसा क्यों करते हैं? मेरे खिलाफ ऐसी भाषा का प्रयोग क्यों? प्रेम का नकाब पहन कर मुझे गालियां दी जाती हैं.

पीएम मोदी ने कहा, नामदार की तरफ से एक इंटरव्यू में कहा गया कि हमारी रणनीति है कि हम प्रधानमंत्री की छवि को खराब करेंगे. मेरी छवि किसी ने बनाई नहीं है. मैंने 45 साल के तप के बाद ये सब कुछ हासिल किया हुआ है. राजीव गांधी के लिए मिस्टर क्लीन की छवि गढ़ी थी, मेरे साथ ऐसा नहीं है. हम मेहनत करके निकले हुए लोग हैं, मजदूर आदमी को जितना मान सम्मान मिलता है, उतना हमको भी मिलता है. हम अपने मान सम्मान के लिए जीते नहीं हैं, हम तो देश के मान सम्मान के लिए जीते हैं.