कन्नौज: सपा-बसपा-आरएलडी महागठबंधन की संयुक्त रैली आज कन्नौज लोकसभा क्षेत्र में हुई. इस दौरान सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की पत्नी व कन्नौज लोकसभा क्षेत्र से सांसद डिंपल यादव ने आज बसपा प्रमुख मायावती से आशीर्वाद लिया. डिंपल ने न सिर्फ नमस्ते की, बल्कि मायावती के पैर भी छूए.

कन्नौज में चौथे चरण में 29 अप्रैल को मतदान होना है. कन्नौज में आज महागठबंधन की रैली थी. डिंपल कन्नौज की सांसद हैं और इस बार भी महागठबंधन की ओर से सपा की प्रत्याशी हैं. डिंपल के समर्थन में मायावती आज कन्नौज पहुंची. इस दौरान मायावती, अखिलेश यादव, अजित सिंह के साथ ही डिंपल यादव मंच पर पहुंचे. जैसे ही डिंपल मायावती के करीब पहुंची उन्होंने मायावती को नमस्ते किया और उनके पैर छुए. इस दौरान मायावती ने उनके सिर पर हाथ रखा और मुस्कुराते हुए उनका अभिवादन स्वीकार किया.

देश को नया प्रधानमंत्री देगा एसपी-बीएसपी-आरएलडी गठबंधन: अखिलेश यादव

रैली में मायावती ने डिंपल को जिताने की अपील की. उन्होंने कहा कि “सपा के साथ गठबंधन के बाद डिंपल यादव को पूरे दिल से अपने खुद के परिवार की बहू मानती हूं. अखिलेश यादव भी मुझे बड़ी ही मानकर चलते हैं जिससे इनकी पत्नी का हमारे परिवार के साथ खास रिश्ता बन गया है और आगे भी बना रहेगा.”

इसके साथ ही मायावती ने कहा कि भाजपा और कांग्रेस सत्ता के लिए साम-दाम सब कुछ अपनाने के लिए तैयार हैं, मगर इनसे बचना है. भाजपा और कांग्रेस सत्ता हासिल करने के लिए साम-दाम-दंड-भेद, सब कुछ अपनाएंगे मगर इनसे बचना है. साथ ही ओपीनियन पोल से आपलोग भ्रमित न हों.” उन्होंने योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि भाजपा सरकार में आवारा पशुओं ने किसानों की फसलों को बर्बाद कर दिया है. नौकरियों में आरक्षण का कोटा भी पूरा नहीं हुआ. कांग्रेस की तरह भाजपा भी सीबीआई, ईडी का दुरुपयोग कर रही है. इन दोनों को सत्ता में नहीं आने देना है.

बसपा प्रमुख ने कहा कि मोदी कह रहे हैं कि वह आरक्षण खत्म नहीं होने देंगे, मगर हकीकत यह है कि वह किसी को आरक्षण का लाभ नहीं मिलने दे रहे हैं. भाजपा सरकार में प्राइवेट सेक्टर हावी है. सच्चर कमेटी की सिफारिशों को भी लागू नहीं किया गया. उन्होंने कहा, “कांग्रेस और भाजपा के घोषणापत्र यकीन करने वाले नहीं हैं. हम घोषणापत्र जारी नहीं करते. हम कहने में कम और काम करने में ज्यादा विश्वास रखते हैं. भाजपा ने पिछले घोषणापत्र में जो वादे किए थे, वे हवा-हवाई साबित हुए.”

लोकसभा चुनाव 2019 की विस्तृत खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें India.com