Lok Sabha Chunav 2019: लोकसभा चुनाव की मतगणना शुरू हो गई है. मध्यप्रदेश की वीआईपी सीट भोपाल से मतगणना के रुझान आने शुरू हो गए हैं. वोटों की गिनती के पहले राउंड में ही भोपाल से भाजपा प्रत्याशी प्रज्ञा सिंह ठाकुर अपने प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवार कांग्रेस के दिग्विजय सिंह से आगे चल रही हैं. आपको बता दें कि प्रज्ञा सिंह ठाकुर 2008 में हुए मालेगांव बम धमाकों की आरोपी हैं. बीते दिनों नाथूराम गोडसे को देशभक्त कहने को लेकर देशभर में उनकी कड़ी आलोचना की गई थी. विपक्षी दलों समेत भाजपा ने भी इस बयान के लिए प्रज्ञा की निंदा की थी. हालांकि विवादित बयान को लेकर चौतरफा घिरने के बाद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने माफी मांग ली थी. लेकिन पीएम मोदी ने मीडिया के साथ बातचीत में कहा था कि वे प्रज्ञा ठाकुर को कभी मन से माफ नहीं कर पाएंगे.

Lok Sabha Election Result Live: 222 सीटों के शुरुआत रुझान आए, भाजपा 135 पर आगे

लोकसभा चुनाव की मतगणना के पहले राउंड में भोपाल लोकसभा सीट से प्रज्ञा ठाकुर अगर चुनाव जीत जाती हैं, तो यह भाजपा के लिए महत्वपूर्ण बात होगी. क्योंकि पिछले करीब 30 वर्षों से भोपाल सीट पर भाजपा का कब्जा रहा है. अगर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह इस सीट से बाजी मार ले जाते हैं, तो भाजपा को न सिर्फ एक सीट का नुकसान हो सकता है, बल्कि भगवा पार्टी को उसके हिंदुत्व के मुद्दे को भी चोट पहुंचेगी. दिग्विजय सिंह के लिए भी लोकसभा का यह चुनाव काफी महत्वपूर्ण है. मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री पद से हटने के 10 साल बाद तक दिग्विजय सिंह सक्रिय राजनीति से दूर रहे. प्रदेश के विधानसभा चुनाव से कुछ समय पहले ही वे फिर से एक बार सियासत में सक्रिय हुए हैं.

पीएम नरेंद्र मोदी की दूसरी जीत से बनेगा इतिहास, भाजपा में ऐसा रिकॉर्ड बनाने वाले दूसरे नेता

विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत के बाद उन्हें भोपाल संसदीय सीट से चुनाव लड़ने का मौका मिला है. इसके पहले वे अपनी परंपरागत राघोगढ़ सीट से चुनाव लड़ते रहे हैं. ऐसे में अगर इस लोकसभा चुनाव में दिग्विजय सिंह को जीत हासिल होती है, तो यह न सिर्फ उनकी पार्टी के लिए अहम होगा, बल्कि खुद उनके राजनीतिक भविष्य के लिए भी बड़ी बात मानी जाएगी. हालांकि अभी मतगणना के शुरुआती रुझान ही आए हैं. इस चरण में पोस्टल बैलेट की गिनती की जाती है. ईवीएम में पड़े वोटों की गिनती कुछ देर के बाद शुरू होगी. इसके बाद मतगणना के नतीजे किसके पक्ष में रहेंगे, यह कुछ घंटों बाद ही पता चलेगा. मध्यप्रदेश की भोपाल संसदीय सीट पर लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में 12 मई को वोट पड़े थे.