लखनऊ: लोकसभा चुनाव में भाजपा ने भारी जीत दर्ज की है. पार्टी ने उत्तर प्रदेश में उपचुनाव में हारी तीन सीटों पर भी जीत की ओर अग्रसर है. वर्ष 2014 में भाजपा ने प्रदेश में 71 सीटें जीतीं थी, मगर उसके बाद हुए उपचुनाव पार्टी को गोरखपुर, फूलपुर और कैराना सीटें गांवनी पड़ी थीं. इसे लेकर विपक्ष बार-बार हमले कर रहा था. इन तीनों सीटों पर हार के कारण भाजपा की बड़ी किरकिरी भी हुई थी.

राहुल गांधी ने स्वीकारी हार, पीएम मोदी और भाजपा को लोकसभा चुनाव में जीत की दी बधाई

लोकसभा उपचुनाव में बसपा के साथ गठबंधन कर समाजवादी पार्टी व राष्ट्रीय लोकदल ने भाजपा की परंपरागत सीट गोरखपुर के साथ ही फूलपुर और शामली की कैराना सीट पर जीत दर्ज की थी. इन तीन सीटों को हारने का संदेश पूरे देश में गया था. भाजपा को कहीं न कहीं इसकी टीस सता रही थी. इस लोकसभा चुनाव में भाजपा ने इन तीनों सीटों पर अच्छी सोशल इंजीनियरिंग करके तीनों पर प्रत्याशी बदले और समीकरण अपने पाले में कर लिए. इस चुनाव में फूलपुर से भाजपा ने केसरी देवी पटेल को मैदान में उतारा. गोरखपुर से पार्टी ने भोजपुरी फिल्म कलाकार रविकिशन पर दांव लगाया तो कैराना से विधायक प्रदीप चौधरी को प्रत्याशी बनाया.

प्रियंका गांधी ने PM मोदी व भाजपा को दी जीत की बधाई, कहा- जनादेश का करें सम्मान

गोरखपुर से रविकिशन की भारी बढ़त
गोरखपुर से रविकिशन ने गठबंधन प्रत्याशी राम भुआल निषाद पर करीब सवा लाख वोट की बढ़त बना ली है. फूलपुर से भाजपा की केसरी देवी पटेल ने गठबंधन प्रत्याशी पंधारी यादव पर बढ़त बना ली है. कैराना से भाजपा के प्रदीप चौधरी ने यहां से सांसद तब्बुसम बेगम को कड़ी टक्कर दी है. काफी कड़े मुकाबले के बाद उन्होंने तब्बुसम बेगम पर बढ़त बना रखी है.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com