Lok Sabha Election के छठे चरण के तहत रविवार को देश के 6 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश दिल्ली में रविवार को सुबह 7 बजे मतदान शुरू हो गया है. इस चरण में कुल 59 लोकसभा सीटों पर 10.17 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे. रविवार को होने वाले चुनाव में केन्द्रीय मंत्रियों राधामोहन सिंह, हर्षवर्धन और मेनका गांधी सहित समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव और कांग्रेस नेताओं दिग्विजय सिंह तथा ज्योतिरादित्य सिंधिया की किस्मत का फैसला ईवीएम में बंद हो जाएगा. लोकसभा चुनाव के छठे दौर के मतदान में उत्तर प्रदेश की 14, हरियाणा की 10, बिहार और मध्य प्रदेश की 8-8, दिल्ली की सात और झारखंड की चार सीटों पर वोट पड़ रहे हैं. इस चरण में 979 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं.

लोकसभा चुनाव का छठा दौर केंद्र में सत्तारूढ़ पार्टी भाजपा के लिए चुनौती की तरह है. क्योंकि रविवार को जिन सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं, उनमें से 45 सीटों पर पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा ने अपना कब्जा जमाया था. लेकिन इस बार बदली हुई राजनीतिक परिस्थितियों में बिहार, यूपी और मध्यप्रदेश में पार्टी के लिए चुनाव परीक्षण की तरह है. इस चरण के चुनाव में जिन दिग्गजों की सीटों पर देश के सियासी जानकारों की नजरें टिकी हैं, उनमें मध्यप्रदेश के भोपाल, यूपी की आजमगढ़, बिहार की मोतिहारी के साथ-साथ दिल्ली की सभी सातों लोकसभा सीट है.

दिल्ली में इस बार पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित भी चुनाव लड़ रही हैं. वहीं, इस चरण में सबसे ज्यादा चर्चा में मध्यप्रदेश की भोपाल लोकसभा सीट है, जहां से कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और एमपी के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के खिलाफ भाजपा के टिकट पर मालेगांव बम धमाकों की आरोपी प्रज्ञा सिंह ठाकुर चुनाव मैदान में हैं. आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव के छठे चरण में बिहार, हरियाणा, मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, झारखंड और दिल्ली में मतदान हो रहा है.