कोलकाता. पश्चिम बंगाल में हो रहा लोकसभा चुनाव के छठे चरण के मतदान भी हिंसा से अछूता नहीं रहा. प्रदेश की 8 लोकसभा सीटों पर छठे चरण का मतदान हो रहा है. इस दौरान घटाल लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी के साथ मारपीट की खबरें आई हैं. इसके अलावा गोपालपुर में बंगाल भाजपा इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष के काफिले पर भी हमले की खबरें आई हैं. बाकी अन्य सभी लोकसभा सीटों पर शांतिपूर्ण मतदान की खबर है.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com

पश्चिम बंगाल में लोकसभा की आठ सीटों पर मतदान के शुरुआती दो घंटों में “शांतिपूर्ण” रहा जहां सुबह नौ बजे तक 16.68 फीसदी मतदाताओं ने अपना वोट डाला. निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि रविवार को छठे चरण के चुनाव में कुल 1,33,69,749 मतदाताओं के पास अपने मताधिकार का प्रयोग करने का अवसर है. तामलुक, कांथी, घटल, झारग्राम (एसटी), मेदिनीपुर, पुरुलिया, बांकुड़ा और बिष्णुपुर संसदीय क्षेत्र में मतदान जारी है. चुनाव अधिकारी ने कहा, “मतदान शांतिपूर्ण ढंग से हो रहे हैं. यह ठीक जा रहा है. हमारे अधिकारी चुनाव प्रक्रिया पर करीब से नजर बनाए हुए है.”

हालांकि घटाल लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी एवं भारतीय पुलिस सेवा की पूर्व अधिकारी भारती घोष के ऊपर हमले की खबर आई है. भाजपा प्रत्याशी भारती घोष के ऊपर हमला उस समय किया गया जब वह केशपुर में मतदान केंद्र में घुसने का प्रयास कर रही थीं. घोष के काफिले पर भी बाद में हमला किया गया जब वह दूसरे मतदान केंद्र पर जा रही थी. स्थानीय लोगों ने उन पर पथराव शुरू कर दिया, इससे भारती घोष का एक सुरक्षा गार्ड घायल हो गया. प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा, “यह पहली बार नहीं है जब भारती घोष पर हमला किया गया हो. तृणमूल कांग्रेस उन्हें राजनीतिक रूप से रोकने में विफल रही तो वह उन्हें शारीरिक क्षति पहुंचाने का प्रयास कर रही है.’’

Video: सुल्तानपुर में पैसे बांटने के आरोप पर बवाल, मतदान से पहले मेनका गांधी के समर्थकों से मारपीट

संपर्क करने पर राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी ने कहा कि इस संबंध में जिला मजिस्ट्रेट से रिपोर्ट मांगी गई है. घोष को केशपुर के पिकुदा में एक मतदान केंद्र के भीतर वीडियोग्राफी करते देखे जाने के संबंध में भी मुख्य चुनाव अधिकारी ने रिपोर्ट मांगी है. आपको बता दें कि भारती घोष ने पिछले दिनों चुनाव प्रचार के दौरान तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों को यह कहते हुए धमकाया था कि अगर उन्होंने वोटरों को रोकने की कोशिश की तो वह उन्हें यूपी से लोगों को बुलवाकर पिटवाएगी. इसके अलावा बंगाल भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष के ऊपर भी जनभावना भड़काने वाले बयान देने के आरोप लग चुके हैं.

(इनपुट – एजेंसी)