जम्मू: लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में 18 अप्रैल को उधमपुर के 16.85 लाख से अधिक मतदाता केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह सहित 12 उम्मीदवारों के राजनीतिक भाग्य का फैसला करेंगे. उधमपुर संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत 17 विधानसभा क्षेत्र आते हैं, जो छह जिलों- किश्तवाड़, डोडा, रामबन, रियासी, उधमपुर और कठुआ में हैं.

जम्मू-कश्मीर के मुख्य निर्वाचन अधिकारी शैलेन्द्र कुमार के कार्यालय से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार, उधमपुर में 16,85,779 पंजीकृत मतदाता हैं, जिनमें 8,76,319 पुरुष, 7,89,105 महिलाएं, 20,312 सर्विस मतदाता (20,052 पुरुष और 260 महिलाएं) शामिल हैं. 43 ट्रांसजेंडर मतदाता हैं. सर्विस मतदाताओं में ऐसे सरकारी कर्मचारी शामिल हैं जो अपने पंजीकृत मतदान केन्द्रों से दूर ड्यूटी पर तैनात होते हैं. इन्हें अपनी ड्यूटी वाली जगह पर वोट देने का अधिकार होता है. उधमपुर में ऐसे कर्मचारियों में सुरक्षा बलों की संख्या सबसे ज्यादा है.

निर्वाचन आयोग ने पूरे निर्वाचन क्षेत्र में 2,710 मतदान केंद्र बनाए हैं. सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद जितेंद्र सिंह, कांग्रेस के विक्रमादित्य सिंह (तत्कालीन महाराजा हरि सिंह के पोते), जेकेएनपीपी के हर्ष देव सिंह और डोगरा स्वाभिमान संगठन के लाल सिंह चुनाव मैदान में उतरे 12 महारथियों में शामिल हैं.