नई दिल्लीः कांग्रेस पार्टी इस बार के लोकसभा चुनाव में ओबीसी वोट बैंक पर दांव खेलने की योजना पर काम करती दिख रही है. पिछले साल के अंत में तीन राज्यों मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में विधानसभा चुनाव जीतने के बाद से पार्टी इस रणनीति पर काम करती दिख रही है. तभी तो उसने तीनों राज्यों में ओबीसी से संबंद्ध रखने वाले नेताओं को बागडोर सौंपी है. इसके बाद कांग्रेस की इन सरकारों ने ओबीसी से जुड़े कई अहम फैसले भी लिए. अब लोकसभा में भी पार्टी इस रणनीति पर काम करती दिख रही है. तभी तो चुनाव से ठीक पहले वह पिछड़े वर्गों से जुड़े मुद्दों को पुरजोर ढंग से उठाने और इनका ज्यादा से ज्यादा समर्थन हासिल करने के लिए आगामी 27 मार्च को राष्ट्रीय ओबीसी अधिवेशन करने जा रही है जिसमें पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के अलावा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह एवं कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के भाग लेने की उम्मीद है.

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के ओबीसी विभाग की ओर से दिल्ली के इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में इस अधिवेशन का आयोजन होने जा रहा है. पार्टी के ओबीसी विभाग के प्रमुख और छत्तीसगढ़ सरकार के कैबिनेट मंत्री ताम्रध्वज साहू ने बताया, ’27 मार्च को हम ओबीसी का राष्ट्रीय अधिवेशन करने जा रहे हैं जिसमें देश भर के हजारों प्रतिनिधि शामिल होंगे.’

उन्होंने कहा, ‘इसमें राहुल गांधी शामिल हो रहे हैं. अगर अनुमति मिल गई तो मनमोहन सिंह, सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी भी शामिल हो सकते हैं. पार्टी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों और वरिष्ठ नेताओं को भी आमंत्रित किया जा रहा है.’

एक सवाल के जवाब में साहू ने कहा, ‘इस अधिवेशन के जरिये हम ओबीसी समाज से अपील करेंगे कि राहुल गांधी ओबीसी समाज को बहुत महत्व और सम्मान दे रहे हैं. ऐसे में हमारा फर्ज बनता है कि हम कांग्रेस की सरकार बनाने और राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए समर्थन दें.’

ओबीसी विभाग के राष्ट्रीय समन्वयक और मीडिया प्रभारी तनवीर खान ने कहा, ‘अधिवेशन में हर राज्य से ओबीसी विभाग के प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया गया है. इसमें करीब 30 हजार लोगों के भाग लेने की उम्मीद है.’ उन्होंने कहा, ‘हम इस अधिवेशन के जरिये ओबीसी समाज से जुड़े मुद्दों को उठाएंगे. चाहे वो आरक्षण का सही ढंग से क्रियान्वयन नहीं होना हो या फिर रोस्टर का मुद्दा हो. यहां से ओबीसी समाज के लिए सकारात्मक संदेश दिया जाएगा.’

(इनपुट-भाषा)