प्रतापगढ़ (उत्तर प्रदेश): कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व सांसद प्रमोद तिवारी को प्रतापगढ़ में रविवार को नजरबंद कर दिया गया. प्रतापगढ़ में लोकसभा चुनाव के लिए मतदान हो रहा है. निर्दलीय विधायक राजा भैया और 12 अन्य को भी नजरबंद रखा गया है.

सटोरियों की नजर में बहुमत से काफी दूर रह जाएगा NDA, यूपी में मिल सकती हैं केवल इतनी सीटें

प्रमोद तिवारी, राजा भैया और अन्य को सिर्फ अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने के लिए घर से बाहर जाने की इजाजत होगी. प्रतापगढ़ में चुनाव के छठे चरण में मतदान हो रहा है और राजा भैया के जनसत्ता दल की मौजूदगी के कारण इस सीट पर मुकाबला चतुष्कोणीय हो गया है. इस सीट पर कांग्रेस ने रत्ना सिंह, भाजपा ने संगम लाल गुप्ता को उम्मीदवार बनाया है, जबकि सपा-बसपा गठबंधन से अशोक त्रिपाठी और राजा भैया ने अक्षय प्रताप सिंह को उम्मीदवार बनाया है.

पीएम के ‘जात-पात जपना, जनता का माल अपना’ बयान पर भड़कीं मायावती, कही ये बात

इस बीच राजा भैया ने कहा है कि उन्हें नजरबंद रखना अनुचित है, क्योंकि सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के किसी भी नेता को नजरबंद नहीं किया गया है. कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने कहा कि उन्होंने कभी कानून-व्यवस्था की स्थिति में दखल नहीं दिया है और उन्हें नजरबंद रखना अनुचित है.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com