नई दिल्लीः लोकसभा चुनाव के मद्देनजर दिल्ली में आम आदमी पार्टी (आप) के साथ गठबंधन के बारे में फैसला करने के लिए आज कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी प्रदेश के नेताओं के साथ एक अहम बैठक करने जा रहे हैं. माना जा रहा है कि पिछले कुछ महीने से आप के साथ गठबंधन को लेकर जारी ऊहापोह के बीच राहुल की यह बैठक काफी अहम है. आप के साथ गठबंधन के मसले पर दिल्ली कांग्रेस पहले ही दो फाड़ हो चुका है. प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित और उनके तीन कार्यकारी अध्यक्ष इसके खिलाफ हैं जबकि प्रदेश कांग्रेस प्रभारी पीसी चाको और पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अजय माकन गठबंधन के पक्ष में खुलकर बोल रहे हैं. Also Read - West Bengal Assembly Election: कांग्रेस का ममता बनर्जी को बड़ा ऑफर, कहा- पश्चिम बंगाल में मिलकर चुनाव लड़े TMC, बीजेपी से...

सूत्रों का कहना है कि चुनाव की घोषणा के दो सप्ताह हो चुके हैं, लेकिन अब तक पार्टी ने गठबंधन को लेकर फैसला नहीं किया है. इससे कार्यकर्ताओं और संभावित उम्मीदवारों में असमंजस की स्थिति है. उन्हें नहीं पता है कि पार्टी दिल्ली की सभी सातों सीटों पर चुनाव लड़ेगी या फिर वह दो-तीन सीटों पर ही उम्मीदवार उतार पाएगी. अब माना जा रहा है कि राहुल गांधी प्रदेश के नेताओं से मुलाकात के बाद कोई अंतिम फैसला ले लेंगे. Also Read - कृषि कानूनों के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन, राहुल-प्रियंका भी हुए शामिल, कहा- पूंजीपतियों को फायदा पहुंचा रही बीजेपी

इस बीच, दिल्ली की सभी सात सीटों पर अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर चुकी आम आदमी पार्टी ने अब 5:2 का फॉर्मूला सुझाया है. बताया जा रहा है कि वह कांग्रेस को दो सीटें देने को तैयार है. लेकिन कांग्रेस के नेता 3:3:1 के फॉर्मूले पर जोर दे रहे हैं. इसके तहत तीन-तीन सीटों पर दोनों पार्टियां लड़ेंगी. एक सीट पर निर्दलीय उम्मीदवार उतारा जाएगा. Also Read - राहुल गांधी की अपील- पेट्रोल-डीज़ल के बढ़ते जा रहे दाम, किसान भी परेशान, सरकार के खिलाफ 'सत्याग्रह' में शामिल हों लोग