नई दिल्लीः चुनावी मौसम में पीएम नरेंद्र मोदी पर बनी एक फिल्म विवादों में घिर गई है. इस फिल्म को 5 अप्रैल को रिलीज किया जाना था लेकिन विपक्षी दलों की आपत्ति के बाद चुनाव आयोग ने इस बारे में भाजपा से जवाब मांगा है. आयोग ने इस फिल्म रिलीज की तारीख को लेकर अभी कोई फैसला नहीं दिया है. विपक्षी दलों ने चुनावी प्रक्रिया के बीच इस फिल्म का प्रदर्शन रोकने को लेकर याचिका दायर की है. फिल्म के खिलाफ विपक्ष की शिकायत पर फिल्म के निर्माता चुनाव आयोग के नोटिस पर अपना जवाब पहले ही भेज चुके हैं. यह फिल्म पांच अप्रैल को रिलीज होने वाली है.

चुनाव आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार की रात कहा, ‘‘भाजपा महासचिव का जवाब मिलने के बाद निर्वाचन आयोग फैसला करेगा.’’ चूंकि, चुनाव आयोग को की गयी शिकायत में भाजपा का उल्लेख किया गया है, इसलिए इसकी एक प्रति जवाब के लिए पार्टी को भेजी गयी है.

अधिकारी ने फिल्म को लेकर उच्चतम न्यायालय के दो फैसले का भी हवाला दिया. एक व्यवस्था में उच्चतम न्यायालय ने पश्चिम बंगाल सरकार को सुनिश्चित करने को कहा था कि ‘भोविष्योतर भूत’ फिल्म को बिना किसी अड़चन के प्रदर्शित होने दिया जाए. इस फिल्म में राज्य के मुख्यमंत्री की आलोचना की गयी थी. हालांकि, उन्होंने कहा कि उस वक्त आचार संहिता लागू नहीं थी.