नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव में हार की गुरुवार को पूरी जिम्मेदारी ली और कहा कि उनके इस्तीफे का मुद्दा उनके और कांग्रेस कार्यकारिणी के बीच का है. राहुल ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “मैं (पार्टी के प्रदर्शन के लिए) पूरी जिम्मेदारी स्वीकारता हूं.”

Lok Sabha Election Results: मेरे समय का पल-पल, मेरे शरीर का कण-कण देशवासियों के नाम : पीएम मोदी

पार्टी के नेताओं ने कहा कि राहुल गांधी के इस्तीफा देने की खबरें शरारतपूर्ण और गलत हैं. संवाददाता सम्मेलन के दौरान यह पूछे जाने पर कि क्या वह इस्तीफा देंगे? राहुल ने कहा, “कार्यकारिणी की हमारी एक बैठक होगी. आप इसे मेरे और कार्यकारिणी के बीच छोड़ दें.”

स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को 38000 वोटों से हराया, अमेठी में टूट गया गांधी परिवार का तिलिस्म

बता दें कि कांग्रेस लोकसभा में 51 सीटें जीत सकती है, जो 2014 के लोकसभा चुनाव में जीती सीटों से मात्र सात ज्यादा है. एनडीए इस समय 350 सीटों पर आगे चल रही है. बीजेपी को प्रचंड बहुमत मिला है. राहुल गांधी ने चुनाव के दौरान पार्टी के प्रचार अभियान का नेतृत्व किया था. शर्मनाक हार के बाद राहुल गांधी द्वारा कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष पद से इस्तीफे की ख़बरें आ रही थीं, जिसका पहले कांग्रेस ने, फिर राहुल गांधी ने ही खंडन किया.