शिमला. लोकसभा चुनाव की गुरुवार को हो रही मतगणना में हिमाचल प्रदेश की सभी चार सीटों पर सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवारों की भारी जीत के बाद पार्टी ने राज्य की सभी चारों सीटों पर अपना परचम बरकरार रखा है. हमीरपुर के मौजूदा सांसद अनुराग ठाकुर, कांगड़ा में भाजपा उम्मीदवार किशन कपूर, शिमला में भाजपा उम्मीदवार सुरेश कश्यप और मंडी के मौजूदा सांसद राम स्वरूप शर्मा ने अपने करीबी प्रतिद्वंद्वियों- कांग्रेस प्रत्याशियों को हरा दिया. हिमाचल प्रदेश के अलावा भी भाजपा ने कई अन्य राज्यों में विपक्षी कांग्रेस पार्टी का सूपड़ा साफ कर दिया है. हिमाचल के पड़ोसी हरियाणा की सभी 10 लोकसभा सीटों की मतगणना में भाजपा के प्रत्याशी आगे चल रहे हैं. वहीं, गुजरात में भी सभी 26 सीटों पर भाजपा प्रत्याशी ही कांग्रेस पर भारी पड़ रहे हैं. देशभर की मतगणना के रुझानों को देखें तो भाजपानीत राजग एक बार फिर केंद्र में पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार बनाने जा रहा है.

Lok Sabha Election Result Live: अमित शाह पहुंचे भाजपा मुख्यालय, कार्यकर्ताओं का जनसैलाब उमड़ा

राज्य में मुख्य मुकाबला कांग्रेस और भाजपा के बीच था. मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने पार्टी की भारी जीत के लिए मतदाताओं को बधाई दी है. उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा कि जीत ने यह सुनिश्चित कर दिया है कि जनता ने उनकी सरकार की नीतियों और योजनाओं में विश्वास जताया है. क्रिकेट की राष्ट्रीय संस्था BCCI के पूर्व अध्यक्ष अनुराग ठाकुर की यह लगातार चौथी जीत है. उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार राम लाल ठाकुर को 3.81 लाख मतों से हराया.

अखिलेश-मायावती-प्रियंका पर भारी मोदी लहर, 55 से अधिक सीटों पर आगे BJP

लोकसभा चुनाव की मतगणना के ताजा रुझानों में जहां भाजपा लगातार बहुमत की ओर आगे बढ़ती दिख रही है. वहीं अब तक घोषित हुए नतीजों में भी इसी पार्टी के उम्मीदवारों ने जीत का परचम लहराया है. इसके विपरीत कांग्रेस समेत सभी विरोधी पार्टियों का प्रदर्शन इस लोकसभा चुनाव में खराब रहा है. मतगणना के ताजा रुझानों में कांग्रेस सिर्फ 50 सीटों पर ही आगे बढ़ती दिखाई दे रही है. वहीं, सपा, बसपा या अन्य कई पार्टियां भी सम्मानजनक आंकड़े से बहुत दूर है. उत्तर प्रदेश में, जहां सियासी जानकार किसी बड़े परिवर्तन के आसार जता रहे थे, वहां भी भाजपा ने 2014 की ही तरह एक बार फिर अपना झंडा बुलंद कर दिखाया है. इसके अलावा भाजपा के लिए सबसे बड़ी सफलता पश्चिम बंगाल की है, जहां पार्टी डेढ़ दर्जन से ज्यादा सीटों पर वहां की सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस को टक्कर देती नजर आ रही है.

(इनपुट – एजेंसी)