तिरुवनंतपुरम: केरल के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) टीकाराम मीणा ने शनिवार को कहा कि राज्य में लोकसभा चुनाव के परिणाम 23 मई को सामान्य से थोड़ी देर से घोषित होंगे क्योंकि पांच ईवीएम की वीवीपैट प्रणाली की पर्चियों की गिनती करनी है.

एग्जिट पोल के नतीजे से पहले शेयर बाजार में जोरदार तेजी, सेंसेक्स 537 अंक उछला

मीणा ने यहां कहा कि वीवीपैट पर्चियों की गणना में करीब चार से पांच घंटे का समय लगेगा. परिणाम की आधिकारिक घोषणा पर्चियों की गणना के बाद की जाएगी. परिणाम सुविधा वेबसाइट पर देखे जा सकते हैं. वीवीपैट से ईवीएम को प्रत्येक वोट दर्ज करने में सक्षम बनाता है जिसकी एक पर्ची भी निकलती है. उच्चतम न्यायालय ने हाल में चुनाव आयोग को निर्देश दिया था कि प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में क्रमरहित आधार से चुनी गई पांच ईवीएम की वीवीपैट पर्चियों की गिनती की जाए.

जब तक मोदी और BJP है, तब तक आदिवासी लोगों की भूमि को कोई हाथ नहीं लगा सकता: पीएम

सुबह आठ बजे शुरू होगी वोटों की गिनती
उच्चतम न्यायालय ने प्रत्येक क्षेत्र के 50 प्रतिशत बूथ या 125 बूथ से वीवीपैट की पर्चियों की गिनती के अनुरोध वाली 21 विपक्षी दलों की अर्जी खारिज कर दी थी. मीणा ने कहा कि गिनती के लिए सभी व्यवस्था कर ली गई है. गिनती के लिए 29 स्थानों का इंतजाम किया गया है और गिनती सुबह आठ बजे शुरू होगी.

योगी ने SP-BSP को बताया दंगा कराने वालों का गठबंधन, कहा- इनसे दोस्ती का मतलब ‘आत्महत्या’

पहले होगी डाक मतों की गणना
उन्होंने कहा कि गिनती सुबह आठ बजे शुरू होगी. डाक मतों की पहले गिनती होगी. गिनती का अंतर यदि डाक मतों से कम है तो डाक मतों की फिर से गिनती होगी. उन्होंने कहा कि मतगणना स्थलों पर तीन स्तरीय सुरक्षा की व्यवस्था की गई है. केरल में लोकसभा चुनाव एक चरण में 23 अप्रैल को हुआ था.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com