नई दिल्ली: लोकसभा के तीसरे चरण के तहत मंगलवार को देशभर में 116 सीटों पर मतदान होगा जिसमें गुजरात और केरल की सभी सीटें शामिल हैं. सात चरणों में से सबसे बड़े इस चरण में प्रमुख उम्मीदवारों में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और कई केंद्रीय मंत्री शामिल हैं. 14 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों की इन 116 सीटों में 2014 के चुनाव में भाजपा और उसके सहयोगी दलों ने 66 सीटें जीती थीं. वहीं कांग्रेस और उसके सहयोगियों ने 27 पर जीत हासिल की. बाकी सीटें अन्य विपक्षी दलों और निर्दलियों के खातों में गईं.

इस चरण में गुजरात की सभी 26 और केरल की सभी 20 सीटों के साथ असम की चार, बिहार की पांच, छत्तीसगढ़ की सात, कर्नाटक तथा महाराष्ट्र में 14-14, ओडिशा की छह, उत्तर प्रदेश की 10, पश्चिम बंगाल की पांच, गोवा की दो और दादर नगर हवेली, दमन दीव तथा त्रिपुरा की एक-एक सीट शामिल हैं. तीसरे चरण के मतदान में करीब 18.56 करोड़ मतदाता अपना वोट डाल सकते हैं. चुनाव आयोग ने इसके लिए 2.10 लाख मतदान केंद्र बनाये हैं और सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं. गुजरात के गांधीनगर से भाजपा अध्यक्ष शाह मैदान में हैं जहां से पहले भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी चुनाव लड़कर लोकसभा पहुंचते रहे.

VIDEO: दिग्विजय ने पूछा, खाते में 15 लाख मिले क्‍या, मंच पर आए मोदी फैन का ऐसा जवाब कि दंग रह गए कांग्रेसी

केरल में वायनाड से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी लड़ रहे हैं और इस सीट पर भी सबकी निगाहें हैं. कांग्रेस सांसद शशि थरूर केरल के तिरुवनंतपुरम से फिर से किस्मत आजमा रहे हैं और उनके सामने भाजपा ने पूर्व राज्यपाल के राजशेखरन को खड़ा किया है. कर्नाटक में यह एचडी कुमारस्वामी नीत कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार के लिए परीक्षा है. उत्तर प्रदेश में सपा नेता मुलायम सिंह यादव के परिवार के चार सदस्यों का भविष्य ईवीएम में कैद होगा. मुलायम, उनके दो भतीजे धर्मेंद्र यादव और अक्षय यादव फिर से लोकसभा पहुंचने के लिए प्रयासरत हैं. इनके अलावा सपा के आजम खान और फिल्म अभिनेत्री तथा भाजपा प्रत्याशी जया प्रदा भी प्रमुख चेहरों में हैं. उत्तर गोवा से केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपाद येसो नाइक फिर से मैदान में हैं.

बिहार में पांच लोकसभा सीटों के लिए मतदान होगा जिनमें से चार पर मौजूदा सांसद पप्पू यादव (मधेपुरा), उनकी पत्नी रंजीत रंजन (सुपौल), सरफराज आलम (अररिया) और महबूब अली कैसर (खगड़िया) हैं. ओडिशा की छह सीटों पर मुख्य मुकाबला राज्य में सत्तारूढ़ बीजद और भाजपा के बीच माना जा रहा है. 2014 के चुनाव में ये सभी सीटें बीजद के खाते में गयी थीं. पश्चिम बंगाल की बालूरघाट, मालदा उत्तर, मालदा दक्षिण, जंगीपुर और मुर्शिदाबाद में तृणमूल कांग्रेस के मुकाबले भाजपा और कांग्रेस के उम्मीदवार ताल ठोंक रहे हैं.