नई दिल्ली. चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव के मद्देनजर मतदाताओं को वोटर पहचान पत्र सहित चुनाव संबंधी अन्य जानकारियों और सहूलियतों के लिये ‘मतदाता पहचान एवं सूचना कार्यक्रम’ (वीवीआईपी) देशव्यापी स्तर पर शुरू किया है. इसके तहत हेल्पलाइन एवं अन्य सेवाओं के जरिये मतदाता अपने पहचान पत्र में संशोधन कराने, नया पंजीकरण कराने और तथ्यों की पुष्टि की जा सकेगी.

आयोग द्वारा शुक्रवार को जारी बयान के अनुसार वीवीआईपी कार्यक्रम के तहत हेल्पलाइन नंबर 1950 और देश के सभी जिलों में संपर्क कार्यालय शुरू किए हैं. संपर्क केन्द्रों को मतदाता पहचान संबंधी सभी सूचनाओं और अत्याधुनिक संचार सुविधाओं से लैस किया गया है. जिससे मतदाताओं को हरसंभव मदद मुहैया करायी जा सके.

आम चुनाव की प्रक्रिया को मुकम्मल करने के लिये आयोग द्वारा आयोजित निर्वाचन अधिकारियों की दो दिवसीय कार्यशाला के दौरान शुक्रवार को वीवीआईपी कार्यक्रम शुरू किया गया. कार्यशाला में सभी राज्य निर्वाचन कार्यालयों के वरिष्ठ अधिकारियों, प्रशिक्षकों और तकनीकी विशेषज्ञों ने हिस्सा लिया.

चुनाव आयुक्त अशोक लवासा ने कार्यशाला को संबोधित करते हुये कहा कि तकनीक के इस्तेमाल से चुनाव प्रक्रिया को मतदाताओं के लिये सुगम बनाया जा सकता है. वीवीआईपी कार्यक्रम में तकनीक की मदद से ही मतदाताओं को अपने पहचान पत्र संबंधी सभी जानकारी मुहैया कराने और नये मतदाताओं को जोड़ने सहित अन्य सहूलियतें मुहैया करायी जाएंगी.

(इनपुट – एजेंसी)