राजनीतिक दल लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुट गए हैं. एक दूसरे को मात देने के लिए सभी खास रणनीति पर काम कर रहे हैं. ऐसे में पूर्वी भारत का एक राज्य ओडिशा, केंद्र की राजनीति के दो ध्रुव कांग्रेस और भाजपा दोनों के लिए टेढ़ी खीर बना हुआ है. ओडिशा में लोकसभा की 21 सीटें हैं. 2014 के लोकसभा चुनाव में मोदी लहर के बावजूद यहां की 20 सीटों पर सत्ताधारी बीजू जनता दल (बीजद) ने कब्जा जमाया था. बावजूद इसके इस राज्य पर भाजपा और कांग्रेस दोनों विशेष जोर दे रही है. दोनों दलों के कद्दावर नेता तुफानी दौरे करने लगे हैं. राज्य में लोकसभा के साथ विधानसभा चुनाव भी होंगे.

‘अजेय’ मुख्यमंत्री
ओडिशा में पिछले करीब दो दशक से एक ही व्यक्ति का एकछत्र राज्य है, वो है मुख्यमंत्री नवीन पटनायक. बीजू जनता दल के प्रमुख पटनायक साल 2000 से लगातार राज्य के मुख्यमंत्री हैं. उनकी पार्टी लगातार राज्य में अपना परचम लहराती आ रही है. वर्ष 2000 में भाजपा के साथ गठबंधन में राज्य के मुख्यमंत्री का पद संभालने वाले पटनायक 2004, 2009 और 2014 में अपनी पार्टी को सत्ता में लाते रहे. 2014 में तो देशभर में मोदी लहर के बावजूद पटनायक की पार्टी ने लोकसभा की 21 में से 20 और राज्य विधानसभा की 147 में 117 सीटों पर कब्जा जमाया था.

मेरे क्षेत्र में अगर कोई जातिवाद की बात करेगा तो उसकी पिटाई होगी: गडकरी

2007 में कंधमाल में हुए दंगों के  बाद बीजद ने भाजपा से अपना नाता तोड़ लिया. उसके बाद 2009 में हुए लोकसभा और विधानसभा चुनावों में पार्टी ने अपने दम पर जबर्दस्त सफलता हासिल की. उसने लोकसभा की 14 और विधानसभा की 103 सीटों पर शानदार जीत हासिल की. 21 मई 2009 को नवीन पटनायक लगातार तीसरी बार राज्य के मुख्यमंत्री बने.

कांग्रेस और भाजपा दोनों का फोकस 
इस राज्य पर कांग्रेस और भाजपा दोनों फोकस कर रही हैं. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इस महीने राज्य का एक और दौरा करने की संभावना है. वह पखवाड़े भर में राज्य की दो बार यात्रा कर चुके हैं. वहीं, भाजपा के एक नेता ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के 15 फरवरी को संबलपुर का दौरा करने का कार्यक्रम है. प्रदेश भाजपा प्रमुख बसंत पांडा के मुताबिक चार लोकसभा क्षेत्रों के बूथ स्तरीय आयोजकों के साथ शाह एक बैठक करेंगे, जिसमें करीब 60,000 बूथ स्तरीय आयोजक शरीक होंगे. इस साल शाह की राज्य की यह तीसरी यात्रा होगी.

कांग्रेस महासचिव बनने के बाद पहली बार यूपी जाएंगी प्रियंका गांधी, कहा- सबसे मिलने आ रही हूं

केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के भी ओडिशा में पार्टी के अभियान का नेतृत्व करने का कार्यक्रम है. भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि राजनाथ सिंह के 17 फरवरी को राज्य का दौरा करने का कार्यक्रम है. वहीं, ओडिशा प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने राहुल की यात्रा के दौरान प्रियंका गांधी वाड्रा को एक स्टार प्रचारक के तौर पर भेजने का पार्टी से अनुरोध किया है. प्रदेश कांग्रेस प्रमुख निरंजन पटनायक ने कहा, ‘‘हमने ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी से प्रियंका गांधी को ओडिशा की यात्रा पर भेजने का अनुरोध किया है.’’ कांग्रेस राज्य में 2000 से सत्ता से बाहर है.