लखनऊ. समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के गठबंधन में मंगलवार को राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) भी शामिल हो गया. रालोद प्रदेश के मथुरा, बागपत और मुजफ्फरनगर में अपने उम्मीदवार उतारेगा. सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और रालोद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने संयुक्त प्रेस वार्ता में कहा, “सपा, बसपा, रालोद और कांग्रेस के साथ ही तमाम विपक्षी दल महागठबंधन का हिस्सा हैं. गठबंधन में हमने कांग्रेस के लिए अमेठी व रायबरेली की दो सीटें छोड़ी दी हैं.”

उन्होंने कहा कि भाजपा के खिलाफ ये सबसे बड़ा गठबंधन है, कई दल साथ आए हैं, ये विचारों का संगम है, कमजोर लोगों की ताकत ये गठबंधन बनेगा, देश में नई सरकार आएगी और नए प्रधानमंत्री मिलेंगे. पुलवामा हमले पर दिग्विजय सिंह के बयान पर अखिलेश यादव ने कहा कि देश की जनता सच्चाई जानना चाहती है और सरकार ही कुछ ऐसा कर सकती है कि पुलवामा की सच्चाई जनता के सामने आए. शहीदों को शहीद का दर्जा मिले और कम से कम एक करोड़ रुपए मुआवजा मिले.

अखिलेश ने कहा, “फौज से हमारा करीबी रिश्ता है. हम फौज पर सवाल नहीं खड़ा कर सकते, लेकिन सच्चाई जानने का अधिकार तो है. यह अधिकार देश के हर नागरिक को है.” वहीं, जयंत चौधरी ने कहा, “मैंने और अखिलेश यादव ने कई मुद्दों पर बात की. उन्होंने कहा कि हम मिलकर चुनाव लड़ेंगे और प्रदेश की सभी सीटों पर गठबंधन के प्रत्याशियों को जिताने का प्रयास करेंगे.” उन्होंने कहा, “हमारी पार्टी अपने सिंबल पर तीन सीटों पर चुनाव लड़ेगी, लेकिन उनके कार्यकर्ता सभी 80 सीटों पर गठबंधन के प्रत्याशियों को जिताने के लिए काम करेंगे.”

(इनपुट – एजेंसी)