नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश, बिहार और पश्चिम बंगाल में लोगसभा चुनाव सभी सात चरणों में होंगे, जिनके लिए मतदान 11 अप्रैल से शुरू होगा और 19 मई तक चलेगा. यानी उत्तर प्रदेश सहित इन दोनों राज्यों के मतदाताओं को अलग-अलग दिन हर चरण में वोट डालने जाने होगा. राज्य में सभी सीटों पर एक साथ नहीं बल्कि सात चरणों तक वोटिंग चलेगी. मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि 22 राज्यों और केंद्र शासित क्षेत्रों में एक चरण में चुनाव होगा.

कर्नाटक, मणिपुर, राजस्थान और त्रिपुरा में चुनाव दो चरणों में होगा, जबकि असम और छत्तीसगढ़ में तीन चरणों में. झारखंड, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, ओडिशा में चार चरणों में और जम्मू एवं कश्मीर में पांच चरणों में चुनाव होगा.” जिन राज्यों में एक चरण में चुनाव होंगे, उनमें आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, गोवा, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, केरल, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, पंजाब, सिक्किम, तेलंगाना, तमिलनाडु, उत्तराखंड, अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह, दमन एवं दीव, दादरा एवं नगर हवेली, लक्ष्यद्वीप, चंडीगढ़, दिल्ली और पुडुचेरी शामिल हैं. 543 सीटों के लिए मतदान होना है.

एलान: 7 चरणों में होंगे लोकसभा चुनाव, 11 अप्रैल को पहला चरण, 23 मई को होगी मतगणना

पहला चरण, 11 अप्रैल: 20 राज्‍यों की 91 सीटों पर होगी वोटिंग
आंध्र प्रदेश की 24, अरुणाचल प्रदेश की 2, असम की 5, बिहार की 4, छत्तीसगढ़ की 1, जम्मू-कश्मीर की 2, महाराष्ट्र की 7, मणिपुर की 1, मेघालय की 2, मिजोरम की 1, नागालैंड की 1, ओडिशा की 4, सिक्किम की 1, तेलंगाना की 17, त्रिपुरा की 1, यूपी की 8, उत्तराखंड की 5, पश्चिम बंगाल की 2, अंडमान ऐंड निकोबार की 1, लक्षद्वीप की 1, दादरा एवं नगर हवेली की 1 सीट पर पहले चरण यानी 11 अप्रैल हो मतदान होगा.

दूसरा चरण, 18 अप्रैल: 13 राज्यों की 97 लोकसभा सीटों पर वोटिंग
असम की 5, बिहार की 5, छत्तीसगढ़ की 3, जम्मू-कश्मीर की 2, कर्नाटक की 14, महाराष्ट्र की 10, मणिपुर की 1, ओडिशा की 5, तमिलनाडु की सभी 39 सीटों पर, त्रिपुरा की 1, उत्तर प्रदेश की 8, पश्चिम बंगाल की 3 और पुदुचेरी की एक सीट के लिए 18 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे.

तीसरा चरण, 23 अप्रैल: 115 सीटों पर होगी वोटिंग
असम की 4, बिहार की 5, छत्तीसगढ़ की 7, गुजरात की 26, गोवा की 2, जम्मू और कश्मीर की 1, कर्नाटक की 14, केरल की 20, महाराष्ट्र की 14, उड़ीसा की 6, यूपी की 10, पश्चिम बंगाल की 5, दादरा और नगर हवेली की 1 दमन दीव की 1 सीट पर वोटिंग होगी.

चौथा चरण, 29 अप्रैल: 9 राज्‍यों की 71 सीटों पर होगी वोटिंग
बिहार की 5, जम्मू कश्मीर की 1, झारखंड की 1, मध्यप्रदेश की 6, महाराष्ट्र की 17, उड़ीसा की 6, राजस्थान की 13, यूपी की 13, बंगाल की 8 और ओडिशा की 6 सीटों पर चौथे चरण में मतदान होगा.

पांचवां चरण, 6 मई: 7 राज्यों में 51 सीटों पर वोटिंग
बिहार की 5, जम्मू-कश्मीर की 2, झारखंड की 4, मध्य प्रदेश की 7, राजस्थान की 12, उत्तर प्रदेश की 14, पश्चिम बंगाल की 7 सीटों पर पांचवें चरण में मतदान होगा.

छठा चरण, 12 मई: 7 राज्‍यों की 59 लोकसभा सीटों के लिए वोटिंग
बिहार की 8, हरियाणा की 10, झारखंड की 4, मध्य प्रदेश की 8, उत्तर प्रदेश की 14, पश्चिम बंगाल की 8, दिल्ली-NCR की 7 सीटों पर छठवें चरण में वोटिंग होगी.

सातवां चरण, 19 मई: 8 राज्यों में 59 सीटों पर वोटिंग
बिहार की 8, झारखंड की 3, मध्य प्रदेश की 8, पंजाब की 13, पश्चिम बंगाल की 9, चंडीगढ़ की 1, यूपी की 13, हिमाचल की 4 सीटों पर आखिरी यानी सातवें चरण को मतदान होगा. नतीजे 23 मई को आएंगे.

Lok Sabha elections 2019: जम्मू कश्मीर की अनंतनाग सीट पर 3 चरणों में होगा मतदान, जानिए कारण

– 90 करोड़ लोग करेंगे मतदान, 8 करोड़, 43 लाख वोटर बढ़े
चुनाव आयोग ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर चुनाव की तारीखों का एलान किया है. कुल सात चरण में वोटिंग होगी. पहला चरण 11 अप्रैल से शुरू होगा. मुख्या चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने बताया कि इस बार चुनाव में 90 करोड़ लोग मतदान करेंगे. इस बार 8 करोड़ 43 लाख वोटर बढ़े हैं. चुनावों में देश के सभी पोलिंग बूथों पर वीवीपेट का प्रयोग किया जाएगा.

18 मार्च को जारी होगी अधिसूचना
आगामी लोकसभा चुनाव के पहले चरण के लिये 11 अप्रैल को होने वाले मतदान की अधिसूचना 18 मार्च को जारी की जाएगी. उल्लेखनीय है कि 2014 में 16वीं लोकसभा का चुनाव नौ चरण में कराया गया था. इस बार लोकसभा चुनावों में दस लाख मतदान केंद्र बनाए जाएंगे, 2014 के लोकसभा चुनावों में नौ लाख मतदान केंद्र बनाए गए थे.

ईवीएम पर उम्मीदवारों की फोटो भी होगी
ख़ास बात ये भी होगी कि ईवीएम पर चुनाव चिन्ह के सामने उम्‍मीदवारों के फोटो भी लगे होंगे. चुनावी आयोग ने कहा कि सोशल मीडिया पर सभी राजनीतिक विज्ञापनों के लिए पूर्व सत्यापन जरूरी होगा.