नई दिल्ली: महाराष्ट्र में कांग्रेस के सीनियर नेता राधाकृष्‍ण विखे पाटिल के बेटे सुजय पाटिल मंगलवार को बीजेपी में शामिल हो गए. राधाकृष्‍ण विखे पाटिल महाराष्ट्र विधानसभा में नेता विपक्ष हैं. मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की मौजूदगी में सुजय पाटिल ने बीजेपी का दामन थामा. इस कार्यक्रम में महाराष्ट्र बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष रावसाहेब दानवे भी मौजूद थे. लोकसभा चुनाव से पहले सुजय पाटिल का बीजेपी में शामिल होना कांग्रेस के लिए झटका माना जा रहा है. सुजय ने पिछले हफ्ते बीजेपी नेता गिरीश महाजन से मुलाकात की थी. चर्चा है कि सुजय को अहमदनगर से लोकसभा का टिकट मिल सकता है. सुजय के अलावा अहमदनगर जिले के कई कांग्रेसी बीजेपी में शामिल हो सकते हैं.

महाराष्ट्र की 48 लोकसभा सीटों पर कांग्रेस और एनसीपी मिलकर चुनाव लड़ रही हैं. ऐसे में यह सीट इस बार एनसीपी के पाले में जाने वाली थी. शरद पवार की अगुआई वाली एनसीपी के अहमदनगर सीट कांग्रेस को देने से इनकार करने के बाद सुजय का बीजेपी में आना तय माना जा रहा था. सुजय का कहना है कि मैं पिछले दो साल से लोकसभा चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहा हूं. चाहे यह सीट कांग्रेस को मिले या न मिले लेकिन मैं यहीं से चुनाव लडूंगा.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक राधाकृष्‍ण पाटील ने शरद पवार से अहमदनगर सीट अपने बेटे सुजय को देने के लिए मनाने की कोशिश की थी, लेकिन शरद पवार ने इससे इनकार कर दिया था. एनसीपी का सुझाव था कि अगर सुजय चाहें तो वह अहमदनगर से एनसीपी के उम्‍मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ सकते हैं. लेकिन सुजय ने एनसीपी के टिकट पर चुनाव लड़ने की बजाय बीजेपी का दामन थाम लिया. सुजय का कहना है कि उन्होंने अपने पिता के खिलाफ जाकर यह फैसला लिया है इसलिए उन्हें नहीं पता कि उनका परिवार उनके फैसले का कितना सम्मान करेगा. लेकिन मैं बीजेपी में ऐसा काम करूंगा जिससे मेरे घरवाले मुझपर प्राउड फील कर सकें. सीएम और अन्य बीजेपी नेताओं ने फैसले लेने में मेरी मदद की.