नई दिल्ली: निर्वाचन आयोग ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की कथित बायोपिक पर पश्चिम बंगाल के निर्वाचन अधिकारी से रिपोर्ट मांगी है. ‘बाघिनी’ नाम की यह बायोपिक तीन मई को रिलीज होनी है. भाजपा ने चुनाव प्रक्रिया समाप्त होने तक फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने की मांग को लेकर निर्वाचन आयोग का रुख किया.

भाजपा ने निर्वाचन आयोग से तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो की कथित बायोपिक की समीक्षा करने के लिए भी कहा है. लोकसभा चुनाव के सात चरणों के तहत अंतिम चरण का मतदान 19 मई को होगा और मतगणना 23 मई को होगी. बता दें कि निर्वाचन आयोग इन दिनों नेताओं के बयानों और कार्यप्रणाली को लेकर सख्‍त हो गया है. आयोग ने कहा है कि नेताओं के चुनाव प्रचार के दौरान आचार संहिता का उल्लंघन करने संबंधी कथित बयानों की शिकायतों पर जांच जारी है.

चुनाव आयोग ने देख ली पीएम मोदी पर बनी बायोपिक, सुप्रीम कोर्ट को कल सौंपेगा रिपोर्ट

‘पीएम नरेन्द्र मोदी’ फिल्म को रिलीज करने के बारे में समिति की सिफारिश का इंतजार
इसके अलावा चुनाव आयोग ने पीएम मोदी पर आधारित बायोपिक पर रोक लगाई है. इस बाबत वरिष्ठ उप चुनाव आयुक्त उमेश सिन्हा ने बताया कि मोदी पर आधारित बायोपिक मामले में आयोग द्वारा गठित समिति ने बृहस्पतिवार को फिल्म को देखा है. चुनाव के दौरान फिल्म को रिलीज करने के बारे में समिति की सिफारिश का इंतजार है. इसकी रिपोर्ट के आधार पर आयोग उच्चतम न्यायालय को इस मामले में अपनी सिफारिश से अवगत करायेगा. उल्लेखनीय है कि बायोपिक ‘पीएम नरेन्द्र मोदी’ को चुनाव के दौरान जारी करने पर रोक लगाने संबंधी याचिका उच्चतम न्यायालय में विचाराधीन है.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com