नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने कहा है कि लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद भारतीय जनता पार्टी सबसे बड़े दल के रूप में सामने आएगी, लेकिन भाजपा को 150 से ज्यादा सीटें नहीं मिलेगी. बनर्जी ने जी न्यूज 24 घंटा को बांग्ला भाषा में दिए गए साक्षात्कार में ये बातें कही हैं. ममता बनर्जी ने इंटरव्यू में यह भी कहा है कि भाजपा को देश के कई राज्यों में सीटों का नुकसान हो सकता है. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, राजस्थान समेत कई राज्यों में भाजपा की सीटें कम होने की संभावना जताई है. बीते दिनों जी न्यूज को दिए इस इंटरव्यू में तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो ने यह भी दावा किया कि केंद्र में अगली सरकार गैर-भाजपा दलों की बनेगी. बनर्जी ने लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण से पहले लिए गए इंटरव्यू में हर उस सवाल का जवाब दिया, जो वर्तमान सियासी हालात में पश्चिम बंगाल को लेकर उठाए जा रहे हैं.

जी न्यूज 24 घंटा को दिए इंटरव्यू में ममता बनर्जी ने केंद्र में बनने वाली अगली सरकार को तृणमूल कांग्रेस द्वारा समर्थन दिए जाने के मसले पर भी बात की. जब उनसे यह पूछा गया कि क्या वह मोदी-शाह की गैर-मौजूदगी वाली भाजपा सरकार को अपना समर्थन देंगी, तो ममता बनर्जी ने कहा, ‘मुझे और मेरी पार्टी को भाजपा ने बहुत बुरे तरीके से परेशान किया है. इसलिए कैसी भी परिस्थिति बने, तृणमूल कांग्रेस केंद्र में भगवा पार्टी के नेतृत्व में बनने वाली किसी सरकार को अपना समर्थन नहीं देगी.’ ममता बनर्जी ने भाजपा के वरिष्ठ नेता राजनाथ सिंह के उस बयान को भी मजबूती से खारिज किया, जिसमें केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा था कि भाजपा बंगाल में लोकसभा की सभी 42 सीटें जीतने वाली है. ममता बनर्जी ने राजनाथ सिंह के इस बयान पर तंज कसते हुए कहा, ‘यह उनकी नहीं, बल्कि उनके नेता की भाषा है.’

नवीन पटनायक ने की पीएम मोदी की तारीफ, क्या बनने लगे नए चुनावी समीकरण?

केंद्र की भाजपा सरकार पर मनमानी करने का आरोप लगाते हुए ममता बनर्जी ने इसे फासिज्म की संज्ञा दी. साथ ही पीएम मोदी को उन्होंने हिटलर से भी बड़ा तानाशाह करार दिया. उन्होंने साक्षात्कार के दौरान पूछे गए एक सवाल पर कहा, ‘देश में अभी सुपर इमरजेंसी का दौर चल रहा है. फासिज्म विचारधारा फैलाई जा रही है. मोदी हिटलर से भी बड़े हिटलर हो गए हैं.’ भाजपा सरकार की खामियां गिनाते हुए तृणमूल सुप्रीमो ने कहा, ‘देश के हर नागरिक के बैंक खाते में 15 लाख रुपए पहुंचाने का वादा खोखला निकला. एलपीजी सिलेंडर की कीमतें 400 रुपए से बढ़कर 800 रुपए तक पहुंच गई हैं.’

ममता बनर्जी ने पीएम नरेंद्र मोदी के ऊपर तंज कसते हुए कहा कि साढ़े 4 वर्षों में पर्यटन के अलावा उन्होंने कोई काम नहीं किया. जी न्यूज 24 घंटा टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा, ‘पीएम मोदी जगह-जगह जाकर राज्य सरकार की खामियां गिनाते हैं, लेकिन अपनी सरकार के काम का जिक्र नहीं करते. दरअसल, पिछले साढ़े 4 वर्षों में पीएम मोदी ने विदेश घूमने के अलावा कोई और काम नहीं किया है. वे अपने मनोरंजन के लिए विदेशों का दौरा करते रहे हैं.’ ओडिशा और बंगाल में आए फोनी तूफान के दौरान पीएम मोदी का फोन न उठाने संबंधी सवाल पर ममता ने कहा, ‘चुनाव को लेकर मैं आजकल दौरों पर रहती हूं, इसलिए फोन पर उपलब्ध नहीं थी. हालांकि पीएम अगर इस मुद्दे पर गंभीर होते तो वह मेरे मोबाइल पर बात कर सकते थे. लेकिन वह तो सिर्फ टि्वटर पर इस घटना की खबर शेयर कर इसका लाभ उठाना चाहते थे.’

वाराणसी में पीएम मोदी ने कराए 40 हजार करोड़ के काम, इसी के भरोसे हैं आसपास के नेता!

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने इंटरव्यू में यह भी आरोप लगाया कि फोनी के मामले में पीएम मोदी, राज्य के मुख्यमंत्री से नहीं, बल्कि मुख्य सचिव और अन्य अधिकारियों से मिलना चाहते थे. ममता बनर्जी ने कहा, ‘पीएम मोदी ने जान-बूझकर मुझे बाईपास कर राज्य के अधिकारियों से मिलने का प्रयास किया. यह लोकतंत्र के लिए सही नहीं है. साथ ही व्यवस्था के साथ खिलवाड़ भी. मोदी हर जगह समानांतर सरकार चलाना चाहते हैं और संवैधानिक संस्थाओं को भाजपा के झंडे तले लाना चाहते हैं. यह स्वीकार्य नहीं है.’ ममता बनर्जी ने साक्षात्कार के दौरान पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव के विभिन्न चरणों के दौरान अराजकता के मुद्दे का दोष भाजपा, कांग्रेस और सीपीआई (एम) के ऊपर मढ़ा. उन्होंने कहा कि चुनाव में पैसे के दम पर विरोधी पार्टियां तृणमूल कांग्रेस को नीचा दिखाना चाह रही है.