नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी नेता अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी का दिल्ली घोषणापत्र जारी किया. घोषणापत्र में राष्ट्रीय राजधानी को ‘पूर्ण राज्य’ का दर्जा दिलाने का वादा किया गया है. यहां पार्टी कार्यालय में जारी 35 पन्नों के घोषणा पत्र का शीर्षक ‘ले कर रहेंगे पूर्ण राज्य’ है. घोषणा पत्र जारी करने के दौरान आप संयोजक व दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भाजपा पर भारत को तोड़ने का पाकिस्तान का एजेंडा पूरा करने का आरोप लगाते हुए कहा कि चुनाव के बाद आप किसी भी ग़ैर भाजपा दल की सरकार के गठन में मदद करेगी. केजरीवाल ने बृहस्पतिवार को आप का घोषणा पत्र जारी करते हुए कहा कि यह चुनाव देश को तोड़ने से बचाने के लिए हो रही कोशिशों का चुनाव है.

आप संयोजक ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के एक पुराने बयान का हवाला देकर कहा कि शाह पहले ही बोल चुके हैं कि आज़ादी के बाद अन्य देशों से आए हिंदू, सिख और बौद्ध को छोड़कर अन्य सभी समुदायों के लोगों को देश से बाहर कर दिया जाएगा. उन्होंने कहा, “इसका मतलब साफ़ है कि मुस्लिम, जैन पारसी और अन्य समुदाय के लोगों को देश से निकल दिया जाएगा. इसलिए हम कहते है कि ये चुनाव प्रधानमंत्री बनाने के लिए नहीं बल्कि देश बचाने के लिए है.” केजरीवाल ने कहा कि भाजपा देश को तोड़ने का एजेंडा चला रही है और यही एजेंडा पाकिस्तान का है.

समाजवादी पार्टी ने आजमगढ़ को बनाया ‘आतंक का गढ़’: योगी आदित्यनाथ

केजरीवाल ने कहा कि आप के घोषणापत्र में दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने का मुख्य लक्ष्य है. उन्होंने आप कांग्रेस गठबंधन नहीं हो पाने के लिए कांग्रेस को ज़िम्मेदार ठहराते हुए कहा कि कांग्रेस ट्विटर पर गठबंधन करने की कोशिश कर रही थी. केजरीवाल ने कहा कि कांग्रेस सभी राज्यों में विपक्ष के गठबंधन को कमज़ोर कर रही है. उन्होंने कहा कि दिल्ली में गठबंधन के लिए आप ने हरसम्भव कोशिश की लेकिन कांग्रेस के बार बार अपनी शर्तें बदलने से साबित हो गया कि कांग्रेस की मंशा गठबंधन करने की नहीं थी. उन्होंने कहा “अगर फिर से मोदी और शाह की जोड़ी सत्ता में आती है तो इसके लिए सिर्फ़ और सिर्फ़ एक ही शख़्स ज़िम्मेदार है और वह हैं राहुल गांधी.”