नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी के नेता व उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बीजेपी पर विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया है. सिसोदिया ने बुधवार को कहा कि उनके 7 एमएल को बीजेपी ने अपनी पार्टी में लाने के लिए 10-10 करोड़ रुपए देने की पेशकश की. हालांकि, बीजेपी ने इस दावे को ‘विचित्र आरोप’ बताते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी ध्यान आकर्षित करने के लिए बेचैन है.

कुंभ मेले में पंडित नेहरू के आने पर मची थी भगदड़, हजारों लोग मारे गए थे: पीएम मोदी

सिसोदिया ने आरोप लगाया कि भाजपा ने इससे पहले भी आप के विधायकों को खरीदने की कोशिश की थी, जिस पर जनता ने उचित जवाब दिया था. उन्होंने दावा किया कि इस बार भी जनता उन्हें करारा जवाब देगी. उन्होंने कहा, अब जबकि भाजपा के पास कोई विकास का मुद्दा उठाने के लिए नहीं रह गया हो तो वह आप के सात विधायकों को 10-10 करोड़ में खरीदने के प्रयास में जुट गई है.

आतंकी कमजोर सरकार के इंतजार में, महामिलावटी केंद्र में मजबूर सरकार बनाने की फिराक में: PM मोदी

सिसोदिया ने प्रधानमंत्री मोदी की उस टिप्पणी की भी निंदा की, जिसमें उन्होंने कहा था कि पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस के 40 विधायक उनके संपर्क में हैं और जैसे ही भाजपा आम चुनाव जीतेगी, ये विधायक तृणमूल कांग्रेस छोड़ देंगे. सिसोदिया ने कहा, एक प्रधानमंत्री द्वारा ऐसा बयान देना सही नहीं है. उन्हें यह मालूम होना चाहिए कि भारत एक लोकतांत्रिक देश है और लोकतंत्र की वजह से ही वह प्रधानमंत्री हैं.

नामांकन रद्द होने की बात पर बोले तेजबहादुर- भाजपा नहीं चाहती कि वाराणसी से चुनाव लडूं, इसलिए बना रही निशाना

सिसोदिया के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा के मीडिया प्रमुख अशोक गोयल ने कहा, चुनाव में हार के डर से आप परेशान है और इस तरह का विचित्र आरोप लगाकर उनके नेता ध्यान आकर्षित करना चाहते हैं.