नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में मुलायम सिंह यादव के साथ बसपा प्रमुख मायावती रैली कर रही हैं. इस दौरान मुलायम की मौजूदगी में मायावती ने कहा कि ‘हम गेस्ट हाउस कांड के बाद भी एक साथ चुनाव लड़ रहे हैं. मायावती ने मुलायम सिंह यादव को पिछड़ों का असली और सबसे बड़ा नेता करार दिया है. मायावती ने कहा कि मुलायम सिंह यादव ने समाज के सभी लोगों को साथ जोड़ा है. मुलायम ही पिछड़ों के असली नेता हैं. मुलायम सिंह यादव ओबीसी के नेता है.

मायावती ने यहां नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि मुलायम सिंह यादव मोदी की तरह फर्जी पिछड़े वर्ग के नहीं हैं, वह असली नेता हैं. माया ने कहा कि दलित, ओबीसी और अन्य पिछड़े वर्गों के सरकारी पद खाली पड़े हुए हैं. ऐसे नकली लोगों से और भी धोखा खाने की जरूरत नहीं है. ऐसे में असली नेता, असली हितैषी कौन है, इसकी पहचान करने की जरूरत है. नकली शख्स कभी किसी का भला नहीं कर सकता, इसलिए ऐसे लोगों से धोखा न खाएं.

गेस्ट हाउस कांड के बाद पहली बार एक मंच पर आए माया-मुलायम, लगा ‘सपा-बसपा आई है’ का नारा

मायावती ने कहा कि असली नेता, असली हितैषी कौन है, इसकी पहचान करने की जरूरत है. नकली शख्स कभी किसी का भला नहीं कर सकता, इसलिए ऐसे लोगों से धोखा न खाएं. बसपा सुप्रीमो ने पीएम मोदी द्वारा जातिवाद को लेकर दिए गए बयान पर भी हमला किया. उन्होंने कहा कि मोदी के नकली पिछड़ों के कारण सरकारी विभागों में लाखों पद खाली हैं. चुनाव में इनकी नाटकबाजी, जुमलेबाजी नहीं चलेगी. भाजपा की कोई जुमलेबाजी अब नहीं चलेगी. सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की तारीफ करते हुए मायावती ने कहा कि मुलायम सिंह की विरासत को अखिलेश यादव ने बखूबी संभाला है.

मायावती ने मैनपुरी की रैली में कहा कि इस बार सत्ता से जरूर बाहर जाएगी भाजपा. चौकीदार की नाटकबाजी अब नहीं चलेगी. उन्होंने कहा कि अच्छे दिन का वादा खोखला साबित हुआ है. मोदी ने पिछले लोकसभा चुनाव में पूरे देश की जनता को विभिन्न किस्म के प्रलोभन दिए थे. मोदी ने कहा था कि भाजपा के सत्ता में आने के बाद 100 दिनों के अंदर विदेशों से कालाधन लाकर देश के हर गरीब व्यक्ति को आर्थिक मदद के रूप में लाखों रुपए दिए जाएंगे. लेकिन मैं पूछना चाहती हूं कि पूरे 5 साल में किसी को भी 15 लाख या 20 लाख रुपए मिले हैं. किसी को भी पैसे नहीं मिले हैं.

मायावती ने भाजपा के साथ-साथ कांग्रेस पर भी चुनाव में झूठे वादे करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि लंबे समय तक सत्ता में रहने के बाद भी कांग्रेस ने देश का भला नहीं किया. अब यही पार्टी पूरे देश में घूम-घूमकर लोगों से झूठे वादे कर रही है. वह लोगों को आर्थिक मदद देने का वादा कर रही है. लेकिन मैं आपसे कहना चाहती हूं कि अगर हमारी पार्टी सत्ता में आई तो हम थोड़ी मदद नहीं, बल्कि हम स्थाई समाधान करेंगे.

रैली में समाजवादी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव व बसपा महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा व राष्ट्रीय लोकदल के अजित सिंह भी मौजूद हैं. जहां ये रैली हो रही है, उस मैनपुरी लोकसभा सीट से मुलायम सिंह यादव प्रत्याशी हैं. मायावती मुलायम सिंह यादव के लिए वोट की अपील की. मैनपुरी की क्रिश्चियन फील्ड में होने वाली इस रैली में मायावती और मुलायम के मंच साझा कर रहे हैं. इसके जरिये महागठबंधन प्रतिद्वंद्वियों को यह संदेश दे रहा है कि सभी दल भाजपा के खिलाफ एकजुट हैं.