नयी दिल्ली: भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने राफेल पर हाल ही में दिए उच्चतम न्यायालय के फैसले पर टिप्पणी करने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ अवमानना की कार्रवाई करने की शुक्रवार को अपील की.

 

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि वह याचिका पर 15 अप्रैल को सुनवाई करेगी. लेखी ने अपनी याचिका में कहा कि गांधी ने अपनी निजी टिप्पणियों को शीर्ष न्यायालय द्वारा किया गया बताया और लोगों के मन में गलत धारणा पैदा करने की कोशिश की. लेखी की ओर से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी ने पीठ से कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष ने टिप्पणी की थी कि अब उच्चतम न्यायालय ने भी कह दिया, चौकीदार चोर है.

योगी की हुंकार, ‘विकास की नई गाथा लिखेगी जनता, यूपी में BJP की 74वीं सीट होगी अमेठी’

राहुल गांधी ने दिया था यह बयान
बता दें कि राहुल गांधी ने बीते दिनों संवाददाताओं से कहा था कि कुछ समय पहले प्रधानमंत्री का एक साक्षात्कार आया था जिसमें (उन्होंने) पत्रकारों से कहा था कि उच्चतम न्यायालय ने क्लीन चिट दी है. अब उच्चतम न्यायालय ने स्पष्ट कर दिया है कि ‘चौकीदार जी’ ने चोरी कराई. राफेल में भ्रष्टाचार हुआ है. मैं पिछले कई महीनों से यह कह रहा हूं कि यदि जांच कराई जाए तो दो नाम सामने आएंगे…नरेंद्र मोदी और (अनिल) अंबानी. गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय ने बुधवार को राफेल मामले में अपने फैसले पर पुनर्विचार के लिये लीक दस्तावेजों को आधार बनाने की अनुमति दे दी और उन दस्तावेजों पर ‘विशेषाधिकार’ होने की केंद्र की प्रारंभिक आपत्तियों को खारिज कर दिया.

भगवान राम का 14 वर्ष तो अमेठी का 15 साल में खत्म होने जा रहा वनवास: स्मृति ईरानी