श्रीनगरः पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने बुधवार को दावा किया कि कश्मीर में हालात इस कदर खराब हो गए हैं कि लोगों ने जम्मू-कश्मीर के भारत में विलय को लेकर पुनर्विचार करना शुरू कर दिया है. जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने दावा किया, “यह जंगलराज है. कल सेना ने एक एसडीएम और उनके साथ अन्य कर्मचारियों की पिटाई कर दी. कैदियों को पीटा गया. मुठभेड़ों में (मारे गए आतंकवादियों के) शवों को किसी रसायन से विकृत किया और जलाया जा रहा है.” महबूबा अनंतनाग जिले के खानबल में अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं के सम्मेलन के बाद पत्रकारों से बात कर रही थीं. Also Read - जम्मू-कश्मीर: आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों पर किया हमला, दो जवान शहीद

महबूबा ने कहा, “ऐसा नहीं लगता कि हम उस भारत के साथ हैं जिसका विलय शेख मोहम्मद अब्दुल्ला और महाराजा हरि सिंह ने किया था. वह भारत हिन्दुओं, मुसलमानों, सिखों और सबका देश था.” उन्होंने कहा, “आज, इतना उत्पीड़न और अत्याचार हुआ है कि कश्मीरी कांपते हैं और सोचते हैं कि हमने किस भारत के साथ विलय किया था.” इस बीच, मुफ्ती ने पुलिस से कहा कि वह अनंतनाग जिले में सोमवार को उनके काफिले पर पथराव करने वाले किसी भी शख्स के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करे. Also Read - पश्चिम बंगाल दूसरे कश्मीर में बदल गया है, यहां हर दिन आतंकवादी गिरफ्तार हो रहे : बीजेपी नेता घोष

Also Read - महबूबा मुफ़्ती के करीबी पीडीपी के युवा नेता वहीद पर्रा अरेस्ट, आतंकवाद के मामले में दिल्ली से एनआईए ने पकड़ा