नई दिल्ली: साम्प्रदायिक टिप्पणियों और गलत बयानबाजी को लेकर चुनाव आयोग (Election Commission) सख्त हो गया है. चुनाव आयोग ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) और मायावती (Mayawati) के बाद अब बीजेपी की मेनका गांधी (Maneka Gandhi) और सपा नेता आजम खान (Azam Khan) को बड़ा झटका दिया है. चुनाव आयोग ने दोनों नेताओं पर विवादित बयानों को लेकर चुनाव प्रचार करने पर रोक लगा दी है. चुनाव आयोग ने मेनका गांधी पर 48 घंटे, जबकि आजम खान पर 72 घंटे की रोक लगाई है.

अश्लील फोटो, होटल में कमरा… और अब अंडरवियर, पढ़ें जया प्रदा-आजम खान की तकरार के किस्से

बीजेपी की सुल्तानपुर लोकसभा सीट (Sultanpur Lok Sabha Seat) से प्रत्याशी मेनका गांधी ने 12 अप्रैल को मुस्लिम वोटर्स ने कहा था कि वे आगामी लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) में उनके पक्ष में मतदान करें क्योंकि मुसलमानों को चुनाव के बाद उनकी जरूरत पड़ेगी. मेनका गांधी ने मुस्लिम बहुल क्षेत्र तूराबखानी में गुरूवार को आयोजित एक चुनावी सभा में कहा, ‘मैं लोगों के प्यार और सहयोग से जीत रही हूं लेकिन अगर मेरी यह जीत मुसलमानों के बिना होगी तो मुझे बहुत अच्छा नहीं लगेगा.’’ भाजपा नेता ने कहा, ‘‘इतना मैं बता देती हूं कि फिर दिल खट्टा हो जाता है. फिर जब मुसलमान आता है काम के लिये, फिर मै सोचती हूं कि नहीं रहने ही दो क्या फर्क पड़ता है. आखिर नौकरी भी तो एक सौदेबाजी ही होती है, बात सही है या नहीं?’ ये नहीं कि हम लोग महात्मा गांधी की छठी औलाद हैं कि हम देते ही जाएंगे, देते ही जाएंगे और फिर इलेक्शन में मार खाते जाएंगे.

चुनाव आयोग की बड़ी कार्रवाई: योगी आदित्यनाथ 72 घंटे और मायावती 48 घंटे तक नहीं कर पाएंगे प्रचार

वहीं, चुनाव आयोग ने सपा नेता आजम खान की ओर से भाजपा नेता जया प्रदा के खिलाफ की गई टिप्पणी को भी संज्ञान में लिया. और आजम के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उनके प्रचार पर 72 घंटे के लिए रोक लगाई है. आजम ने 14 अप्रैल को रामपुर में अखिलेश यादव की मौजूदगी में मंच से कहा था, ‘जिनको हमने रामपुर की गलियों में ऊँगली पकड़ कर चलना सिखाया, उन्हें आपको पहचानने में 17 साल लग गए, लेकिन मैं 17 दिन में पहचान गया था कि इनके नीचे का अंडरवियर खाकी रंग का है’. विवाद के बाद चुनाव आयोग ने इस टिप्पणी पर कार्रवाई की है.

मेनका गांधी बोलीं- नौकरी चाहिए तो मुस्लिम वोट दें, वर्ना हम महात्मा गांधी की छठी औलाद नहीं, जो देते जाएंगे

चुनाव आयोग ने आज कुल चार बड़े नेताओं पर कार्रवाई की है. इससे पहले चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) और बसपा प्रमुख मायावती (Mayawati) को चुनाव आयोग (Election Commission of India) ने बड़ा झटका दिया. चुनाव आयोग ने विद्वेष फैलाने वाले विवादित बयानों पर दोनों के चुनाव प्रचार करने पर रोक लगा दी है. सीएम योगी पर 72 घंटे व मायावती पर 48 घंटे की रोक लगाई गई है. सीएम योगी पर अली और बजरंग बलि वाले बयान जबकि मायावती पर मुस्लिम वोटर्स को लेकर दिए गए बयान पर रोक लगाई है.