नयी दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल के लिए गुरुवार को होने वाले शपथ ग्रहण समारोह में सभी प्रदेशों के राज्यपालों, मुख्यमंत्रियों और प्रमुख विपक्षी दलों के नेताओं को आमंत्रित किया गया है. उच्च पदस्थ सूत्रों ने मंगलवार को यह जानकारी दी. Also Read - जानें क्या है 10 हजार करोड़ का आयुष्मान सहकार फंड, जिसे केंद्र सरकार ने किया लॉन्च

Also Read - पीएम मोदी बोले- भारत ने सबसे पहले लगाया लॉकडाउन इसलिए आ रही करोना के मामलों में कमी

नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लेंगे बांग्लादेश के राष्ट्रपति अब्दुल हामिद Also Read - प्रधानमंत्री ने कोविड-19 लड़ाई में ढिलाई के खिलाफ चेताया, टीका वितरण के वास्ते पूरी तैयारी रखने के दिये निर्देश

जिन विपक्षी नेताओं को आमंत्रित किया गया है उसमें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, तृणमूल कांग्रेस प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, जद (एस) नेता और कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी और आप प्रमुख और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल शामिल हैं. सूत्रों ने कहा कि सभी मुख्यमंत्रियों, राज्यपालों, पूर्व प्रधानमंत्रियों और पूर्व राष्ट्रपतियों को कार्यक्रम के लिये न्योता भेजा गया है. उन्होंने कहा कि समारोह के लिये सभी बड़े राष्ट्रीय और क्षेत्रीय दलों को न्योता भेजा जा रहा है.

कांग्रेस छोड़कर बीजेपी से जीते 4 एमएलए ने ली शपथ, भाजपा का संख्‍याबल 104 हुआ

शाम सात बजे राष्ट्रपति भवन में होगा शपथ ग्रहण समारोह

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद गुरुवार को शाम सात बजे राष्ट्रपति भवन में मोदी और उनकी मंत्रिपरिषद के अन्य सदस्यों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाएंगे. लोकसभा चुनाव में एक-दूसरे पर तीखे हमले के बाद विपक्षी नेताओं को न्योते को मोदी की ओर से उन तक पहुंचने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है. चुनाव में भाजपा ने जबर्दस्त जीत दर्ज की. सरकार ने शपथ ग्रहण समारोह में बिम्सटेक देशों के नेताओं को भी आमंत्रित किया है.

ममता बनर्जी को बड़ा झटका, बंगाल के 3 विधायक व 50 पार्षद भाजपा में शामिल